खाने के बाद कुछ मीठा खाने वाले लोग मस्त रहते हैं लेकिन बढ़ते वज़न से वो कभी कभी परेशान भी हो जाते हैं। खाना हमेशा गिल्ट फ्री होना चाहिए। आम दिन हो या ख़ास दिन, खाना ख़ास अहमियत रखता है। नवरात्रि के नौ दिन के सख्त उपवास के बाद जब दशहरा आता है, तो खाने की टेबल भी फेस्टिव मूड में आ जाती है। नवरात्रि की तरह ही दशहरा पर भी खास व्यंजन बनाए और खिलाए जाते हैं। पर अगर आप फिटनेस फ्रीक हैं, तो यकीनन व्यंजनों की ये लिस्ट आपकी परेशानी बढ़ा देती होगी। उनमें भी सबसे ज्यादा डेजर्ट।

मिठास के बिना कोई भी भारतीय त्यौहार पूरा नहीं होता और दशहरे का त्यौहार तो चाशनी में डूबी जलेबियों और गर्मागर्म Doodh के साथ सेलिब्रेट किया जाता है। Doodh- Jalebi पूरे उत्तर भारत, गुजरात तथा महाराष्ट्र में बहुत ही पसंद की जाती है। खासतौर पर Dussehra पर लोग इस पारंपरिक मिठाई का लुत्फ लेना चाहते हैं। कुरकुरी ताज़ा Jalebi और गर्मागर्म Doodh अपने बेमिसाल स्वाद के कारण यह कॉम्बो सभी को आकर्षित करता है।

ये भी एक सच है कि हम सभी Doodh Jalebi खाना पसंद करते हैं, पर डरते हैं इसकी मिठास से। कहीं वजन न बढ़ जाए। तो हम आपको बताते हैं कि एक प्लेट Doodh- Jalebi खाने के बारें में आहार विशेषज्ञ क्या कहते हैं।

Doodh और Jalebi जहां स्वाद मे लाजवाब है वहीं इसके स्वास्थ्य संबंधी फायदे भी आपको हैरान कर देंगे क्योंकि ये स्वास्थ्य की दृष्टि से भी काफी फायदेमंद है।

Jalebi की 1 प्लेट में पाए जाने वाले पोषक तत्व

  • कैलोरी- 220 kcal
  • कार्बोहाइड्रेट- 28 gms
  • वसा- 11 gms
  • प्रोटीन- 2 gms
  • कैल्शियम- 5 mg
  • पोटेशीयम- 18 mg
  • विटामिन ए- 5 mcg

एक गिलास या 100 ग्राम Doodh में पाए जाने वाले पोषक तत्व

  • कैलोरी- 117 kcal
  • कार्बोहाइड्रेट- 0 gms
  • वसा- 8 gms
  • प्रोटीन- 3 gms.
  • कैल्शियम- 68 mg
  • फॉस्फोरस- 17 mg
  • विटामिन ए- 7 mcg

‘Doodh- Jalebi’ खाने से मिलने वाले लाभ

  1. निश्चित रूप से यह कॉम्बो वजन बढ़ाने वाला है। यदि आपको अपना वज़न बढ़ाना है, तो देशी घी में बनी Jalebi को एक गिलास दूध के साथ हर रोज सुबह खाएं।
  2. यदि आपको रोज़ रोज़ सिर दर्द की समस्या है, खासकर माइग्रेन की तो सुबह नाश्ते में Doodh- Jalebi खाना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। इससे आपको माइग्रेन में आराम मिल सकता है।
  3. यदि आपको किसी तरह का तनाव है, तो भी Doodh- Jalebi आपको राहत दे सकती है। शोध भी मानते हैं कि मिठास हमें तनावमुक्त महसूस करवाती है। इसी तरह Doodh- Jalebi खाने से आपको भी अपने तनाव से राहत मिल सकती Doodh- Jalebi का साथ मे सेवन करने से शारीरिक कमज़ोरी भी दूर होती है।
  4. जिन लोगों की त्वचा मे रूखापन रहता है और एड़ियां फटने की समस्या होती है उन लोगों को भी Doodh- Jalebi का सेवन करना चाहिए। इससे त्वचा अच्छी हो जाती है। इसके साथ ही Doodh- Jalebi सामान्य दृष्टि को बनाये रखने मे सहायक हैं।
  5. जो लोग अपना वज़न घटाना चाहते हैं, उन्हे Doodh- Jalebi का सेवन बहुत ही कम या फिर नहीं करना चाहिए।

यह भी पढ़ें: ख़तरे से खाली नहीं है Roadways Bus से सफर करना, जानें वजह

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है