Home Science यूं ही होता रहा Climate Change तो भारत के 12 शहर जाएंगे...

यूं ही होता रहा Climate Change तो भारत के 12 शहर जाएंगे डूब

0

वक़्त के साथ साथ हर चीज़ में बदलाव आता है लेकिन कुछ बदलाव सब कुछ हिला कर रख देते हैं। Climate Change मानव जाति के सबसे बड़ी चुनौतियों में से एक है। Climate Change का सबसे बड़ा दुष्प्रभाव हमें Global Warming, महासागरों के जलस्तर के रूप में दिखाई दे रहा है। इसके साथ ही धरती पर बदलते मौसम के कारण कई बार भारी तबाही का भी सामना करना पड़ रहा है।

Climate Change का असर धरती की ऊपरी परत (Earth crust) पर भी हो रहा है। बता दें कि बदलते मौसम के कारण दुनियाभर की बर्फ की चादर और ग्लेशियर पिघल रही हैं और इस कारण यह पृथ्वी की ऊपरी सतह को नुकसान पहुंचा रहा है। कई Satellite Pictures के अध्ययनों से यह पता चला है कि ग्रीनलैंड और अंटार्कटिका की बर्फ की चादर के लगातार पिघलने से Ocean में पानी के स्तर में बड़े बदलाव देखने को मिल रहे हैं। इस कारण धरती के ऊपरी सतह पर पर्पटी विकृत हो गई है। धरती के ऊपरी भाग में असामान्यता नजर आ रही है।

University of Cambridge में हुए शोध के मुताबिक ग्रीनलैंड और अंटार्कटिका के ग्लेशियर पर हुए अध्ययनों से यह पता चला है कि Earth की पर्पटी पर मौसम बदलने के कारण बड़े बदलाव देखने को मिल रहे हैं।

एक्सपर्ट्स के अनुसार North Pole पर साल 2003 से लेकर 2018 के बीच ग्रीनलैंड और आर्कटिक ग्लेशियर की पिघलती बर्फ ने धरती के बाहरी भाग पर असर डाला है। यह धरती को धकेलने का काम कर रहा है और अमेरिका और कनाडा में यह 0.3 मिलीमीटर प्रतिवर्ष की दर से खिसक रहा है। बता दें कि Climate Change इसकी सबसे बड़ी वजह है। इसके कारण आर्कटिक और अंटार्कटिक दोनों जगह पर बर्फ जल्दी पिघल रही है और यह 31 प्रतिशत ज्यादा बर्फ हर साल पिघल रही है। इसके का असर केवल कुछ शहरों में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में दिखेगा। ऐसी स्थिति में भारत भी इससे अछूता नहीं रहेगा और भारत के 12 शहर 3 फुट तक डूब सकते हैं।

यह भी पढ़ें: ‘देश के मैंटोर’ कार्यक्रम के ब्रांड एम्बेस्डर बने Sonu Sood, अब करेंगे ये काम

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है 

Exit mobile version