रोज़ खाई जाने वाली Roti को अब इस तरह बनाएं ज्यादा पौष्टिक

0
1248

रोटी(Roti) एक ऐसी चीज़ है जिसे भारत ही नही बल्कि पूरी दुनिया में खाया जाता है। दुनिया में चाइनीज़ फ़ूड, थाई फ़ूड आदि देशों के व्यंजनों को पसंद किया जाता है बावजूद इसके Roti की वैल्यू कम नहीं हुई है। आप चाहें कितने ही स्नैक्स खा लें लेकिन पेट भरने का काम सिर्फ Roti ही करती है। चटपटे पकवान या फिर स्नैक्स आपका मन जरूर भर सकते हैं लेकिन Roti न सिर्फ हेल्दी होती है बल्कि पाचन को संतुष्टि भी देती है। Roti पोषक तत्वों से भरपूर होती है। सादे आटे की Roti को ही ज्यादा पौष्टिक बनाने के लिए हम आपको कुछ तरीक़े बताने जा रहे हैं।

घर पर ही तैयार करें मल्टीग्रेन आटा

गेहूं के आटे को इस तरह बनाएं मल्टीग्रेन आटा

  1. मल्टीग्रेन आटा तैयार करने के लिए गेहूं तथा अन्य अनाज का अनुपात 3-2 का रखें। जैसे, यदि आप को 5 किलोग्राम आटा तैयार करना है तो गेहूं की मात्रा 3 किलोग्राम तथा सोयाबीन, मक्का, जौ, चना आदि अनाज की मात्रा 500-500 ग्राम रखें।
  2. यदि आप बाजार का पैक्ड आटा प्रयोग करती हैं, तो इसी अनुपात में गेहूं के आटे में अन्य अनाज का आटा मिला कर प्रयोग करें।

बच्चों के लिए तैयार करें ख़ास तरह का आटा 5 किलोग्राम गेहूं के आटे में प्रोटीन के मुख्य स्रोत सोयाबीन को 500 ग्राम, 1 किलोग्राम चना और 500 ग्राम जौ मिला कर पिसवाए गए आटे की Roti खाने से बढ़ती उम्र के बच्चों को लाभ होता है।

ज़रूरी बातगेहूं के आटे में कार्बोहाइड्रेट भरपूर मात्रा में होता है साथ ही इससे प्रोटीन का पोषण भी मिलता है। बता दें कि बिना छाने आटे की Roti बनाने से उनमें फाइबर भी प्रचुर मात्रा में होता है। क्योंकि गेंहू के ऊपर की महीन परत नैचरल और पौष्टिक फाइबर से बनी होती है।

यह भी पढ़ें – Hare Pyaz ki Sabzi को दें ट्विस्ट, पराठे या पूड़ी के साथ करें सर्व

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है