BSF के 56वें स्थापना दिवस पर पहुंचे गृहराज्य मंत्री नित्यानंद रॉय, जवानों को बताया सीमा का गौरव

0
615

नई दिल्ली: सीमा सुरक्षा बल BSF मंगलवार को अपना 56वां स्थापना दिवस मना रहा है। बीएसएफ की स्थापना भारत-पाकिस्तान और भारत-चीन युद्ध के बाद, भारत की सीमाओं की सुरक्षा सुनिश्चित करने और वहां से जुड़े मामलों के लिए एक दिसंबर, 1965 को एक एकीकृत केंद्रीय एजेंसी के रूप में किया गया था।

BSF की बात करें तो भारत के पांच केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों में से एक है, इतना ही नहीं दुनिया के सबसे बड़े सीमा सुरक्षा बल के रूप में खड़ा है। बीएसएफ को भारतीय क्षेत्रों की रक्षा की पहली पंक्ति करार दिया गया है। इसके करीब पौने तीन लाख जवान व अधिकारी देश की 6386 किमी लंबी सीमा की सुरक्षा की जिम्मेदारी निभा रहे हैं।

स्थापना दिवस के मौके पर बीएसएफ के डीजी राकेश अस्थाना ने जवानों के परिवार का अभिवादन किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि हम देश को आश्वस्त करना चाहते हैं कि हमारे जवान पाकिस्तान की कायर घुसपैठ की कोशिशों से देश की रक्षा करने के लिए हमेशा खड़े रहेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बीएसएफ के जवानों को उनकी राष्ट्रसेवा के लिए नमन किया। पीएम मोदी ने जवानों को उनके समर्पण के लिए नमन करते हुए ट्वीट किया, ‘सभी बीएसएफ कर्मियों और उनके परिवारों को बीएसएफ के स्थापना दिवस के विशेष अवसर पर शुभकामनाएं। बीएसएफ ने देश को बचाने और प्राकृतिक आपदाओं के दौरान नागरिकों की सहायता करने की अपनी प्रतिबद्धता पर अटूट विश्वास करते हुए खुद को एक बहादुर बल के रूप में प्रतिष्ठित किया है। बीएसएफ पर भारत को गर्व है।’

अमित शाह ने ट्वीट कर कहा, ‘बीएसएफ ने अपने शौर्य और पराक्रम से अपने आदर्श वाक्य ‘जीवन पर्यन्त कर्तव्य’ को सदैव चरितार्थ किया है। आज बीएसएफ के 56वें स्थापना दिवस पर मैं बल के सभी बहादुर जवानों को उनकी राष्ट्रसेवा और समर्पण के लिए नमन करता हूं। भारत को अपने रणविजयी ‘सीमा सुरक्षा बल’ पर गर्व है।’

आपको बता दें कि स्थापना दिवस के मौके पर गृहमंत्री अमित शाह BSF जवानों के एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने वाले थे। लेकिन नये कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों से मिलने और बैठक करने चले गये। जिसके बाद गृहराज्य मंत्री नित्यानंद रॉय BSF जवानों के परेड में शामिल हुए, इस दौरान उन्होने BSF जवानों को संबोधित करते हुए कहा कि देशवासियों का भरोसा जो आप पर है, उससे आपको फक्र महसूस करना चाहिए।

आपके गौरव पर प्रधानमंत्री मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को आपके उपर फक्र है। सीमा प्रहरियों द्वारा आयोजित इस परेड में जवानों ने दर्शनिय मार्चपास्ट किया है। इसके लिए मैं BSF के अधिकारियों और जवानों का प्रशंसा करता हू। आप लोग PM मोदी का विस्वास हैं, गृहमंत्री अमित शाह का भरोसा हैं। पड़ोसी देश द्वारा की गई आतंकवादी घुसपैठ, सीजफायर के उल्लंघन पर आप हमेशा उनके मंसूबों पर पानी फेक देते हैं।