भारत की कंपनी बायोलॉजिकल-ई ने Corbevax नाम की इस कोरोना वैक्सीन को तैयार किया है। अभी इस कोविड-19 वैक्सीन के तीसरे फेज का ट्रायल चल रहा है। ट्रायल के फाइनल नतीजे आने के बाद Emergency Approval के लिए अप्लाई किया जाएगा। हैदराबाद की इस कंपनी के साथ Indian Government ने 30 करोड़ कोविड-19 संक्रमण वैक्सीन की डोज के लिए डील की है।
वैक्सीन की कीमत को लेकर अभी कोई फैसला नहीं लिया गया है, हालांकि खबर के मुताबिक दो डोज की कीमत 400 रुपये से भी कम हो सकती है। अब तक Corbevax वैक्सीन के ट्रायल के दो फेज पूरे हो गए हैं और दोनों में काफी अच्छे नतीजे आए हैं।
फिलहाल तीसरे फेज़ का Trial चल रहा है। वहीं, किसी भी Corona Virus वैक्सीन के लिए तीसरे फेज़ का ट्रायल बेहद अहम होता है। तीसरे फेज़ में हजारों की संख्या में वॉलेंटियर को अलग-अलग शहरों और देशों में कोविड-19 वैक्सीन लगाई जाती है।
अप्रैल 2021 में Hyderabad की इस कंपनी को CDSCO ने तीसरे चरण के ट्रायल के लिए अनुमति दी थी। इस Corbevax वैक्सीन को अमेरिका के Baylor College of Medicine के सहयोग से विकसित किया जा रहा है।
Biologicals-E Limited ने भारत में एक मैसेंजर राइबोन्यूक्लिक एसिड वैक्सीन PTX-COVID19-B के निर्माण के लिए कनाडा स्थित प्रोविडेंस Therapeutics होल्डिंग्स इंक के साथ साझेदारी की है।
देश में इस वक्त तीन कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है, जिसकी अलग-अलग कीमतें हैं। Oxford AstraZeneca की कोविशिल्ड की 2 डोज State Governments को 600 रुपये में दी जा रही है, वहीं निजी अस्पताल को ये वैक्सीन 1200 रुपये में दी जा रही है।

यह भी पढ़ें: Covid-19 Update: छत्तीसगढ़ में कोरोना का कहर, बीते 24 घंटे में 23 मरीजों की मौत

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है