भारतीय टीम पुराने समय में बल्लेबाजों की टीम के लिए प्रसिद्ध थी।

वर्तमान समय में भारतीय क्रिकेट टीम दुनिया की सबसे बेहतरीन टीमों में गिनी जाती है। यह टीम इतनी आगे बढ़ चुकी है कि हर टीम इसके साथ खेलने से डरती है। भारत अब इतनी मजबूत टीम हो चुकी है कि वह किसी भी टीम को उसके घर के अंदर जाकर हरा सकती है। भारतीय टीम पुराने समय में बल्लेबाजों की टीम के लिए प्रसिद्ध थी। लेकिन अब भारत के पास एक से बेहतर एक गेंदबाज मौजूद है, जिसकी वजह से यह टीम और ज्यादा मजबूत हुई है। कहा जाता है कि भारतीय टीम के पास दुनिया में सबसे ज्यादा खिलाड़ी है। भारत के अगर सभी खिलाड़ियों को मिला लिया जाए तो ना जाने कितनी टीम तैयार हो सकती है।

टीम INDIA को इस साल रविवार ने बहुत डराया, जानिए रविवार से टीम इंडिया…

टीम इंडिया से बाहर होते ही विदेश में जाना चाहते थे यह दो खिलाड़ी

भारत में इतने सारे खिलाड़ी होने की वजह से ही बहुत सारे अच्छे खिलाड़ियों को खेलने का मौका नहीं मिलता है। जिसकी वजह से बहुत सारे खिलाड़ी नाराज भी हो जाते हैं और कुछ खिलाड़ी तो विदेशों का रुख भी करने की कोशिश करते हैं। भारतीय टीम के मध्यक्रम बल्लेबाज अंबाती रायडू को कौन नहीं जानता है। उन्होंने भारतीय टीम के लिए बहुत सारे मैच खेले हैं और चेन्नई सुपर किंग्स के तो वह स्टार बल्लेबाज हैं। भारतीय टीम में ज्यादा मौके नहीं मिले तो उन्होंने गुस्से में आकर संन्यास ले लिया। उन्होंने आयरलैंड के लिए खेलने का मन बना लिया क्योंकि उन्हें वहां से खेलने का अच्छा ऑफर मिल रहा था। लेकिन बीसीसीआई ने उन्हें नहीं जाने दिया।

IND vs WI: टीम इंडिया की अग्निपरीक्षा, 18 दिसंबर को होगा दूसरा मैच

टीम इंडिया से बाहर होते ही विदेश में जाना चाहते थे यह दो खिलाड़ी, बीसीसीआई ने

एक समय ऐसा भी था जब श्रीसंत को भारत का आने वाला भविष्य कहा जाता था क्योंकि श्रीसंत ने बहुत कम उम्र में भारतीय टीम के लिए खेलना शुरू कर दिया था। वह अपने अच्छे दौर से गुजर रहे थे लेकिन मैच फिक्सिंग में पकड़े जाने के बाद उन पर बैन लगा दिया। यह प्रतिबंध आईसीसी ने नहीं बल्कि बीसीसीआई ने उनके ऊपर लगाया था। इसका सीधा मतलब यह है कि वह भारत को छोड़कर बाकी कहीं से भी क्रिकेट खेल सकते हैं। जब उन्होंने बाहर जाने की योजना बनाई तो बीसीसीआई ने उन्हें अनुमति ही नहीं दी।

टीम इंडिया से बाहर होते ही विदेश में जाना चाहते थे यह दो खिलाड़ी, बीसीसीआई ने