यूपी के गाजियाबाद में है ‘पाकिस्तान वाली गली’ जानें क्या है पूरी कहानी

0
802
यूपी के गाजियाबाद में है ‘पाकिस्तान वाली गली’ जानें क्या है पूरी कहानी

यूपी में है ‘पाकिस्तान वाली गली’ क्या बदला जाएगा गली का नाम ?

बंटवारा जिसने भारत को दो मुल्कों में बांट दिया और पिछे छोड़ गया सिर्फ हिंसा और विवाद जिसे लेकर आज भी दोनों देशों के बीच आए दिन कोई ना कोई विवाद चलता रहता है। देश के बंटवारे के समय पाकिस्तान छोड़कर कुछ हिंदू परिवार दादरी में बसे थे, जिस गली में वे बसे, उसे आज भी पाकिस्तान वाली गली के नाम से जाना जाता है। सरकारी दस्तावेजों में भी यही पता लिखा जाता है। आजाद हिंदुस्तान में एक ‘पाकिस्तान की गली’ है. इस गली में रहने वाला हर कोई हिंदुस्तानी है…दिल से भी…नागरिकता से भी, 70 साल पहले पाकिस्तान के कराची शहर से गौतमबुद्ध नगर के दादरी खींच लाया था. हालांकि उनके सभी दस्तावेज भारतीय हैं, लेकिन, उन परिवारों की पहचान अब भी पाकिस्तानी वाली गली के तौर पर ही होती है.

 

जातिसूचक शब्दों पर नहीं रखे जाएंगे कॉलोनी के नाम

साथ हीं आपको ये भी बता दें कि जातियों के नाम पर बनी कॉलोनियों का भी नाम बदला जाएगा। गुर्जर कॉलोनी, पंजाबियान मुहल्ला, ठाकुरान मुहल्ला, गुप्ता कॉलोनी, सक्को वाली गली आदि नाम को भी बदला जाएगा। इन कॉलोनियों की पहचान महापुरुषों के नाम पर होगी। नगर पालिका परिषद ने ऐसे जाति विशेष के नाम वाले मुहल्लों की पहचान बदलने का प्रस्ताव तैयार किया है। जल्द ही इस संबंध में डीएम को पत्र भेजकर कार्रवाई शुरू की जाएगी। वॉर्ड-2 में गौतमपुरी मुहल्ले के अंतर्गत पाकिस्तान वाली गली आती है। इस नाम के साथ जाति विशेष के नाम वाली सभी गलियों-मोहल्लों का नाम भी बदला जाएगा।