15 अगस्त को कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं रहेगा, भारत के प्रमुख नेता ने विवादित बयान देते हुए कहा…

0
1003
15 अगस्त को कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं रहेगा, भारत के प्रमुख नेता ने कहा....

भारतीय सरकार को विदेशों से भी तारीफ मिल रही है लेकिन अपने ही देश के विपक्षी पार्टी के नेता इसका जमकर विरोध कर रहे हैं।

अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद से ही विवाद खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। सरकार के फैसले के बाद जहां देश में कई जगह जश्न मनाया जा रहा है वहीं अलगाववादी नेता और कुछ विपक्षी पार्टी के नेता इसका जमकर विरोध कर रहे हैं। पाकिस्तान ने भारत के इस फैसले से बहुत परेशान नजर आ रहा है। पाकिस्तान भारत से सभी तरह के रिश्ते खत्म करने का फैसला ले लिया है।

अनुच्छेद 370 को लेकर एमडीएमके के प्रमुख वाइको ने विवादित बयान दिया है।

 अनुच्छेद 370 को लेकर एमडीएमके के प्रमुख वाइको ने विवादित बयान दिया है

कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म कर देने पर भारतीय सरकार को विदेशों से भी तारीफ मिल रही है लेकिन अपने ही देश के विपक्षी पार्टी के नेता इसका जमकर विरोध कर रहे हैं।  अनुच्छेद 370 को लेकर एमडीएमके के प्रमुख वाइको ने विवादित बयान दिया है। इससे पहले भी कश्मीर मुद्दे को लेकर कांग्रेस-भाजपा पर निशाना साधते रहे हैं। वहीं पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने भी इसे लेकर कड़ी टिप्पणी की है। एमडीएमके प्रमुख वाइको ने कहा है कि सत्‍तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी कश्मीर को बर्बाद करने पर आमादा है।

कश्मीर के मुद्दे को पर एमडीएमके प्रमुख वाइको ने विवादित बयान देते हुए कहा है कि जब देश अपना 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा होगा, तब कश्मीर भारत का हिस्सा नहीं रहेगा। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भाजपा ने कश्मीर को कीचड़ में धकेल दिया है।

पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने भी इसे लेकर कड़ी टिप्पणी की है।

 पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मनमोहन सिंह ने भी इसे लेकर कड़ी टिप्पणी की है

इसके साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि आर्टिकल 370 खत्म करने से पहले सरकार को जम्मू-कश्मीर के लोगों की राय जाननी चाहिए थी। उन्होंने अपने बयान में आगे कहा कि देश गहरे संकट में चला गया है। केंद्र सरकार को जम्मू-कश्मीर के लोगों की बात सुननी चाहिए। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि सरकार का यह फैसला देश के कई लोगों को पसंद नहीं आ रहा। यह जरूरी है कि इन सभी लोगों की बात सुनी जाए। ऐसे लोग देश के लिए सोचते हैं, इसलिए अपनी आवाज उठा रहे हैं।

भारत से जंग की तैयारी में है पाकिस्तान? लद्दाख के नजदीक तैनात किये लड़ाकू विमान