नांदेड़ में खुले टेस्टिंग सेंटर, निजी अस्पतालों में हो रहा था दुर्व्यव्हार

0
318
Covid Testing Lab, Nanded

रिपोर्ट: नरेश तुप्तेवार

नांदेड़: दुनिया भर में कोरोना महामारी से हा-हाकार मचा हुआ है। महाराष्ट्र के नांदेड जिले में भी कोरोना मरीजों की तादाद लगातार बढ़ती जा रही है। अब तक सात हज़ार से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जबकि 251 लोगों की मौत हुई है। कोरोना की बढ़ती इसी संख्या को गंभीरता को देखते हुए महानगर निगम और जिला प्रशासन आला अधिकारीयो ने शहर के नानानानी पार्क में  टेस्टिंग सेंटर चालू किया है। इस टेस्ट में जिस किसी को कोरोना के लक्षण लगते है उनकी तुरंत जांच की जा रही है। यहां पर रोजाना तकरीबन 500 के करीब लोगों की जांच कि जा रही है।

दरअसल, मरीजों के परिजनों का कहना है कि अगर किसी जिले में कोई भी अन्य बीमारी को लेकर मरीज निजी अस्पताल में इलाज के लिए जाता है तो उनको डॉक्टर कहते है कि पहले कोरोना की जांच की रिपोर्ट लेकर आओ, इसके बाद ही आपका इलाज किया जाएगा। लेकिन यहां पर एक और चौकानीवाली बात ये है कि डॉक्टर जिन लोगों की जांच कर रहे हैं इसमें से कोई कोरोना पॉजिटिव आता है तो उसकी रिपोर्ट देकर उन्हें खुला छोड़ दिया जा रहा है, तो किसी के साथ बदसलूकी भी की जा रही है। इतना ही नहीं मरीज को रिपोर्ट आने तक रोड पर सोने तक की नौबत आ गई है। इनको ले जाने के लिए एम्बुलेंस या फ़िर कोई वाहन तक नहीं है। ऐसा ही नजारा नांदेड़ में भी देखने को मिल रहा है। इसके बावजूद भी जिला प्रशासन और मनपा प्रशासन मरीजो के साथ खिलवाड़ कर रही है।

आपको बता दें, इस पूरे मामले पर मनपा के आयुक्त सुनील लहाने ने बताया की ऐसा कुछ नही है। शहर के नानानानी पार्क में ऑटीजेन टेस्ट करने के बाद कोई भी मरीज पॉजिटिव आते हैं तो उनको सरकारी अस्पताल,पंजाब भवन कोविड सेंटर में आगे के इलाज के लिए मरीजों को एम्बुलेंस में लेकर दाखिल किया जाता है। शहर में पांच वाहन फिरते है।स्कूल बस का भी इंतजाम किया हैं अभी तक दो हजार से भी उपर मरीज पाए गए हैं। इस मामले को लेकर बीजेपी के जिला अध्यक्ष  प्रवीण साले ने आरोप लगाया कि मनपा प्रशासन ने ऑटीजेन टेस्ट का सेंटर चालु किए हैं लेकिन अप्रैल और मई में ढूढ़ कर कोरोना पॉजिटिव मरीजों को अस्पताल में दाखिल किए जाते थे। आज वो हालात नहीं हैं। नानानानी पार्क में जो भी मरीज पॉजिटिव आता है तो डॉक्टर कहते है कि खुद ही जाकर अस्पताल में दाखिल हो जाओ। यह बात गंभीर है राज्य में कांग्रेस के बड़े नेता और नांदेड़ जिले के पालक मंत्री अशोक चव्हाण की नांदेड मनपा में सत्ता है। शहर में जो कुछ हो रहा है उन्हें इस पर ध्यान देना चाहिए। वो क्यों चुप है ऐसा आरोप भाजपा के जिला अध्यक्ष प्रवीण साले ने लगाया है।