योगी सरकार अब चंदौली जिले का नाम बदल कर पंडित दीनदयाल नगर रखने जा रही है।

योगी राज में नाम बदलने का सिलसिला जारी है। जहां एक और जिले का नाम बदलने जा रही है। बता दें कि योगी सरकार अब चंदौली जिले का नाम बदल कर पंडित दीनदयाल नगर रखने जा रही है। आपको बता दें कि नाम बदलने के लिए शासन को रिपोर्ट भेज दी गई है। और इस रिपोर्ट को जिला प्रशासन को भी भेज दी गई है।

योगी राज में नाम बदलने का सिलसिला जारी, अब इस जगह का बदला जाएगा नामवही शासन की अंतिम मुहर लगने की औपचारिकता भी भर दी गई है। जब राजकीय मेडिकल कालेज का शिलान्यास कार्यक्रम होगा तब प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ चंदौली जिले का नाम बदल कर पंडित दीनदयाल नगर की घोषणा कर सकते हैं। तो वहीं 1997 में चंदौली वाराणसी का हिस्सा हुआ करता था। साथ ही उस समय तत्कालीन सीएम मायावती ने वाराणसी से चंदौली जनपद को अलग कर दिया।

पहले जनपद में तीन तहसीलें सदर, चकिया, सकलडीहा थीं, लेकिन पूर्व की सपा सरकार ने नौगढ़ और नियामताबाद को तहसील का दर्जा देकर जिले में पांच तहसील कर दीं। दरअसल कुछ दिनों पहले शासन स्तर से जिला प्रशासन से रिपोर्ट मांगी गई थी कि जिले का नाम दीनदयाल नगर में परिवर्तित करने में कोई दिक्कत तो नहीं है। तभी जिला प्रशासन ने रिपोर्ट भेजकर स्थानीय स्तर से मुहर लगा दी।