बीजेपी अध्यक्ष (Dilip Ghosh) एक बार फिर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। दरअसल, घोष (Ghosh) बंगाल के नादिया जिले में एक रैली को संबोधित कर रहे थे।

अक्सर अपने विवादित बयानों को लेकर सुर्खियों में बने रहने वाले पश्चिम बगांल (West Bengal) बीजेपी अध्यक्ष (Dilip Ghosh) एक बार फिर अपने बयान को लेकर सुर्खियों में बने हुए हैं। दरअसल, घोष (Ghosh) बंगाल के नादिया जिले में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। जहां, उन्होंने सीएम ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) पर वार करते हुए विवादित बयान ही दे डाला। घोष (Ghosh) ने धमकी देते हुए कहा कि, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने वाले लोगों को उत्तर प्रदेश की तरह गोली मार दी जाएगी।

Image result for mamta banerjee vs dilip ghosh

 

बता दें घोष, नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में हुए प्रदर्शन से सार्वजनिक संपत्ति को हुए नुकसान के लिए सीएम ममता (CM MAMTA) पर हमला बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि, राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने पिछले साल दिसंबर में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध प्रदर्शन के दौरान रेलवे की संपत्ति और सार्वजनिक परिवहन को नुकसान पहुंचाने वालों के खिलाफ लाठीचार्ज या गोली चलाने का आदेश नहीं दिया था, क्यों ? । ‘क्या ये उनके पिताजी की संपत्ति है? वह कैसे सरकार की संपत्ति को नुकसान पहुंचा सकते हैं जो करदाताओं के पैसों से बनी है?

सीएम ममता पर वार करने के साथ ही घोष ने उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh), असम (Assam) और कर्नाटक (Karnataka) की सरकारों का उदाहरण देते हुए कहा कि, इन सरकारों ने ऐसे राष्ट्र विरोधी तत्वों पर गोली चलाकर बिलकुल ठीक काम किया।

Image result for mamta banerjee vs dilip ghosh

ममता  पर बंगाली हिंदुओं के हितों को नुकसान पहुंचाने वालों की पहचान करने का आह्नान करते हुए बीजेपी नेता ने दावा किया कि भारत (INDIA) में दो करोड़ मुस्लिम घुसपैठिए हैं। उन्होंने आरोप लगाया, ‘अकेले पश्चिम बंगाल में एक करोड़ घुसपैठिए हैं और ममता बनर्जी उन्हें बचाने की कोशिश कर रही हैं।’

आपको बता दें कि, पश्चिम बंगाल बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh)  के बयान पर केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (Babul Supriyo) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। सुप्रियो (Supriyo) ने कहा कि, ‘दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने जो कहा उससे भाजपा का कोई लेना-देना नहीं है। यह उनकी कल्पना का एक अनुमान है और यूपी, असम में भाजपा सरकार (modi government) ने कभी भी लोगों पर किसी भी कारण से गोली नहीं चलवाई है। दिलीप घोष ने जो भी कहा वह बहुत ही गैरजिम्मेदाराना है।

Image result for mamta banerjee vs dilip ghosh

खैर पार्टी ने तो घोष के बयान को उनका अपना अनुमान बताकर, विवादित बयान से किनारा कर लिया है। लेकिन देखना होगा कि, क्या इस बयान पर बवाल यही खत्म हो जाएगा ?। या फिर विपक्षी राजनेता इस बयान को भूनाकर अपनी जड़े और मजबूत करेंगे।