कोच के रूप में विराट ने इस दिग्गज को किया पसंद, नाम जानकर हो जायेंगे हैरान….

0
743

वेस्टइंडीज के दौरे से पहले प्रेंस कांफ्रेंस में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सभी सवालों के बेबाकी से जवाब दिए।

भारतीय क्रिकेट टीम के कोच और कुछ स्टाफ का कार्यकाल खत्म हो गया है, जिसकी वजह से उनका 45 दिन का कार्यकाल और बढ़ा दिया गया है यानी वे सभी अभी प्लीज दौरा खत्म होने तक टीम इंडिया के साथ रहेंगे। दिनेश काफी समय से भारतीय कोच के सिलेक्शन का मामला चर्चा का विषय बना हुआ है, रोज नए नाम सामने आते हैं जो भारत के कोच के आवेदन के प्रबल दावेदार बताए जाते हैं।

कोच के रूप में विराट ने इस दिग्गज को किया पसंद, नाम जानकर हो जायेंगे हैरान....

फिलहाल आवेदन का समय खत्म हो चुका है, आवेदन के समय खत्म होने से पहले जो नाम सामने आए हैं। उसमें दो भारतीय खिलाड़ी और दो विदेशी खिलाड़ी शामिल है। भारतीयों में से भारत की दीवार माने जाने वाले बेहतरीन क्रिकेटर राहुल द्रविड़ और भारतीय विस्फोटक ओपनर वीरेंद्र सहवाग है, इसी तरह विदेशी खिलाड़ियों की बात की जाए तो इसमें टॉप मूडी और महिला जयवर्धने का नाम शामिल है।

भारत को बड़ा झटका, वेस्टइंडीज दौरे से पहले यह खिलाड़ी हुआ डोप टेस्ट में फेल, लगा बैन

वेस्टइंडीज के दौरे से पहले प्रेंस कांफ्रेंस में भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सभी सवालों के बेबाकी से जवाब दिए। अपने और रोहित शर्मा के रिश्ते के बारे में भी काफी बातें की। क्योंकि पिछले काफी दिनों से विराट और रोहित के बीच मतभेद की खबरें मीडिया में आ रही थी, लेकिन विराट ने सभी अटकलों को विराम देते हुए टीममेट के साथ उनके रिश्तों और कोच के बारे में बहुत सारी बातें की।

कोच के रूप में विराट ने इस दिग्गज को किया पसंद, नाम जानकर हो जायेंगे हैरान....

विराट ने कहा की पिछले काफी दिनों से बहुत कुछ कहा जा रहा है, लेकिन ये बिलकुल भी सच नही है, अगर टीम का माहौल अच्छा नही होता तो हम कभी इतना शानदार प्रदर्शन नही कर पाते, क्योंकि किसी भी इंटरनेशनल टीम के अच्छे प्रदर्शन के लिए टीम और ड्रेसिंग रूम का माहौल अच्छा होना बेहद जरूरी होता है।

टीम इंडिया के हेड कोच के लिए इस दिग्गज खिलाड़ी ने डेडलाइन से ठीक पहले भेजा आवेदन

बाद में जब कोहली से उनके पसंदीदा कोच के बारे में पूछा गया तो विराट ने कहा कि रवि भाई के साथ हमने अच्छा काम किया है, और हमने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, और मेरी यह निजी राय है कि रवि भाई कोच बने रहें, बाकी बीसीसीआई जैसा चाहे वो ठीक है, पर यदि मेरी राय ली जाएगी तो मैं रवि भाई का ही नाम लूँगा।