थाना अध्यक्ष की रिश्वतखोरी की वीडियो वायरल करना पड़ा एक युवक को महंगा…

0
412
थाना अध्यक्ष की रिश्वतखोरी की वीडियो वायरल करना पड़ा एक युवक को महंगा...

थाना अध्यक्ष की रिश्वतखोरी की वीडियो वायरल करना युवक के परिवार पर पड़ा भारी

दो दिन पूर्व वायरल हुई थाना अध्यक्ष की रिश्वतखोरी की वीडियो वायरल करना युवक के परिवार पर पड़ा भारी, क्योंकि जिस युवक ने एसओ की वीडियो बनाकर वायरल की थी उसके पिता ने फर्जी मुकद्दमे में पुलिस की प्रताड़ना से क्षुब्ध होकर फंदे से लटककर आत्महत्या कर ली है। पीड़ित युवक ने न्याय की मांग के लिए कल मेरठ एडीजी के यहां जाकर भी प्रार्थना पत्र दिया था। साथ में न्याय नहीं मिलने पर आत्महत्या करने की चेतावनी भी दी थी। फिलहाल मौके पर पहुँची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और शव के पास से मिले सुसाइड नोट को पुलिस कब्जे में ले लिया है। वहीं एसपी बागपत का कहना है कि किसी भी आरोपी को बक्शा नहीं जाएगा।

आपको बता दें कि मामला थाना छपरौली का है जहां कस्बे की पट्टी धनकोशिया में रहने वाले सोनू नाम के एक युवक ने तीन दिन पूर्व थाना अध्यक्ष चितवन सिंह का खनन माफियाओं से 20 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए वीडियो वायरल कर दिया था। जिसके बाद एसपी बागपत ने थाना अध्यक्ष को लाइन हाजिर कर मामले की जांच बैठा दी थी। उधर थाना छपरौली में एक रिश्तेदार महिला ने युवक के पिता ब्रह्मपाल सिंह के खिलाफ एक फर्जी मुकद्दमा दर्ज कराया हुआ था कि उन्होने नौकरी लगवाने के नाम पर उस महिला से 51000 रुपए लिए थे।

जिसके चलते पुलिस परिवार को प्रताड़ित कर रही थी। जबकि पीड़ित परिवार का आरोप ये था कि दारोगा प्रदीप शर्मा के उस महिला से अवैध सम्बन्ध थे और दारोगा और उस महिला की मिलीभगत में ये फर्जी मुकदमा किया गया था। ई बात का फाइदा उठाकर दरोगा उन्हें आएदिन प्रताड़ित कर रहा था। इस प्रताड़ना से क्षुब्ध होकर पीड़ित युवक कल न्याय की गुहार लगाने मेरठ एडीजी प्रशांत कुमार के यहां पहुंचा था। प्रार्थना पत्र देते हुए उसने न्याय नहीं मिलने पर आत्महत्या की भी चेतावनी दी थी और आज सुबह परिवार के उस वक्त होश उड़ गए जब उसके पिता ब्रह्मपाल सिंह का शव फांसी के फंदे से लटका हुआ मिला।

जिसके पास से एक सुसाइड नोट भी पुलिस को मिला है। पुलिस उस सुसाइड नोट को कब्जे में लेकर मामले की तफ्तीश में जुटी है। वहीं एसपी बागपत का कहना है कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है और सुसाइड नोट व अन्य तमाम बिंदुओं पर जांच की जा रही है। मामले में जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाएगी।