प्रदूषण का स्तर दिन प्रति दिन बढ़ता ही जा रही है। जिसके चलते लोगों को तरह-तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

आज प्रदूषण का स्तर दिन प्रति दिन बढ़ता ही जा रही है। जिसके चलते लोगों को तरह-तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बच्चों से लेकर बूढ़े लोगों तक हर उम्र के लोगों को बढते प्रदूषण की वजह से दिक्कतें होती हैं। ऐसे में अगर प्रदूषण की बात करें तो इसमें सबसे पहला नाम आता है भारत की राजधानी दिल्ली का जहां हर साल दिपावाली के समय से लेकर पूरी सर्दियों तक बढ़ते प्रदूषण की वजह से दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

Image result for देश का पहला स्मॉग टावर...

इस बढ़ते प्रदूषण के पीछे कई बड़ी वजह बताई जाती हैं। जैसे गाडियों से हो रहे प्रदूषण, किसानों के पराली जलाने की वजह से भी कुछ हद तक प्रदूषण का स्तर बढ़ता है। जैसे जैसे पार्टिकुलेट मेटर में बढ़त होती वैसे ही प्रदूषण का स्तर भी बढ़त जाता है। दिल्ली में तो जो सामान्य पार्टिकुलेट मेटर 50 तक होता हैं वो उस समय पर 250 और 1000 से भी ज्यादा हो जाता है।

दिल्ली को प्रदूषण से बचाने के लिए बीते दिनों दिल्ली सरकार की तरफ से कई बड़े कदम उठाए गए। लेकिन इनसे कुछ ज्यादा बदलाव देखने को नहीं मिला। इसी को चलते अब दिल्ली में लोगों ने अपनी तरफ से एक बड़ा कदम उठते हुए लाजपत नगर इलाके में स्मॉग टावर स्थापित किया है। इस टावर को दिल्ली सरकार ने नहीं दिल्ली से संसाद और खिलाड़ी गौतम गंभीर ने लोगों के साथ मिलकर 7 लाख की लागत से लगवाया है। जिससे दिल्ली के लोगों को कुछ हद तक प्रदूषण से निजात सके।

JNU बना आंतक का अड्डा नकाबपोश बदमाशों ने कैंपस में घुसकर किया हमला

स्मॉग टावर क्या होता हैं ?

Image result for देश का पहला स्मॉग टावर...

स्मॉग टॉवर एक बहुत बड़ा एयर प्यूरीफायर होता है। जो कि अपने आसपास की गंदगी और जहरीली हवा को अपनी तरफ खीचने के बाद उसे साफ करने के बाद बाहर फेंकता है। साफ तौर पर कहा जा सकता है कि स्मॉग टावर बड़े स्तर पर हवा साफ करके लोगों को प्रदूषण से मुक्ति दिलाने का काम करता है। आपको बता दें कि यह स्मॉग टावर प्रति घंटे कई करोड़ घन मीटर हवा साफ कर सकता है और पीएम 2.5 और पीएम 10 जैसी हानिकारक कणों को 75 फीसद तक साफ करके हवा को शुद्ध करते है।

फिलहाल इस स्मॉग टावर को किसी सरकार की तरफ से तो नहीं बनाया गया लेकिन अब इस ट्रायल वाले छोटे स्मॉग टावर से उम्मीद है कि दिल्ली को जल्द ही प्रदूषण से निजात मिले और उसी आधार पर पूरे दिल्ली में इस तरह से स्मॉग टावर बनाए जाए। जिससे लोगों को परेशानियों का सामना ना करना पड़े।

जानिए सिखों के लिए कितना महत्वपूर्ण है ननकाना साहिब