राजनीतिक गलियारे में फिर से हुई हलचल: तमिलनाडु

0
476
राजनीतिक गलियारे में फिर से हुई हलचल: तमिलनाडु

तमिलनाडु राजनीति के समीकरण फिर बदलें, कांग्रेस गठबंधन ने की जीत हासिल….

कर्नाटक में अचानक से कांग्रेस और डीएमके पार्टी के नेताओं ने इस्तीफा दे दिया था, जिसके चलते कर्नाटक में कांग्रेस की सत्ता जाती रही, और बिना चुनाव के भी भारतीय जनता पार्टी कर्नाटक में सत्ता में आ गई। काफी लंबे समय तक घमासान चलने के बाद कर्नाटक की राजनीति कुछ शांत हो गई थी लेकिन कुछ समय बाद ही कर्नाटक की सत्ता में फिर से उथल-पुथल देखने को मिल रही है।

कर्नाटक में स्पीकर का बड़ा फैसला,14 बागी विधायकों को आयोग्य करार दिया

राजनीतिक गलियारे में फिर से हुई हलचल: तमिलनाडु दरअसल तमिलनाडु की वेल्लोर लोकसभा सीट द्रविड़ मुनेत्र कड़गम डीएमके जिनका कांग्रेस के साथ गठबंधन है, उनके उम्मीदवार कथिर आनंद ने 8,141 वोटों से जीत ली है। डीएमके के कथिर आनंद को बेहद करीबी मुकाबले में 485,340 वोट मिले। जबकि एआईएडीएमके कैंडिडेट जिनको बीजेपी का समर्थन प्राप्त है, एसी शनमुगम को 477,199 वोट हसिल हुए। एआईएडीएमके के एसी शनमुगम और डीएमके के डीएम कथिर आनंद के बीच लगातार करीबी मुकाबला रहा।

यह कांग्रेस पार्टी और डीएमके पार्टी की बहुत बड़ी जीत मानी जा रही है, और दूसरी तरफ बीजेपी की हार मानी जा रही है, जबकि डीएमके को कांग्रेस का और एआईएडीएमके को भाजपा का समर्थन हासिल था।

राजनीतिक गलियारे में फिर से हुई हलचल: तमिलनाडुअप्रैल व मई महीने में 17वीं लोकसभा के लिए चुनाव हुए थे।  चुनावों के दौरान वेल्लोर लोकसभा सीट पर भारी तादाद में कैश बरामद होने के बाद यहां चुनाव को रद्द करना पड़ा था। जिसके बाद यहां 5 अगस्त को फिर से चुनाव करना पड़ा, लेकिन इस बाऱ ऐसा लग रहा था कि मोदी के कड़े फैसलो के कारण जनता बीजेपी के समर्थन से चुनाव लड रही एआईडीएमके को वोट देगी। पर जनता तो जनता ही है, जनता ने जागरुकता दिखाते हुए बीजेपी को करारी शिकस्त दी है।

बीएस येदियुरप्पा ने कर्नाटक के CM के तौर पर चौथी बार ली शपथ

राजनीतिक गलियारे में फिर से हुई हलचल: तमिलनाडु

जिस प्रकार से लोकसभा चुनावों के बाद लगातार कांग्रेस संगठन मजबूती से जीत की तरफ बढ रहा है उससे ये तो साबित हो जाता है कि कांग्रेस ने हार से सबक लिया है। आपको बता दें गठबंधन के बाद से डीएमके के प्रत्याशी को कांग्रेस के समर्थन से चुनावी रण मे उतारा गया जिनको शानदार सफलता मिली है इस परिणाम के बाद काग्रेस व डीएमके खेमे मे जश्न का माहौल है।