‘आयरन लेडी’ सुषमा स्वराज के बारे में जानें 5 महत्वपूर्ण बातें-

0
753
सुषमा स्वराज

अलविदा सुषमा स्वराज, दिल का दौरा पड़ने से हुआ निधन

भारत की पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को मंगलवार शाम दिल का दौरा पड़ने के बाद दिल्ली के एम्स में लाया गया जहां हालत बेहद गंभीर होने के बाद उनका निधन हो गया। देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राहुल गांधी समेत देश-दुनिया के तमाम दिग्गज नेताओं ने उन्हें श्रद्धांजलि दी है। आज दोपहर 3 बजे के बाद उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

ऐसे में हम आपको आज सुषमा स्वराज के बारे में 5 रोचक बातें बताने जा रहे हैं-

  1. सर मुडंवाने की कही थी बात-

अस्पताल से सामने आई सुषमा स्वराज की अचानक मौत की वजह

साल 2004 में जब कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी तो ऐसे में सोनिया गांधी का प्रधानमंत्री बनना तय माना जा रहा था। उस वक्त सुषमा ने घोषणा की थी कि अगर सोनिया गांधी प्रधानमंत्री बनती हैं, तो वह अपने पद से त्‍याग पत्र दे देंगी और अपना सिर मुंडवाकर पूरा जीवन एक भिक्षुक की तरह बिताएंगी। हालांकि, सुषमा स्‍वराज को ऐसा कुछ नहीं करना पड़ा, क्‍योंकि सोनिया गांधी की जगह डॉ. मनमोहन सिंह को चुना गया।

  1. सुषमा स्वराज ने की थी लव मैरिज-

सुषमा स्वराज ने उस जमाने में लव मैरिज किया था जब लड़कियों को पर्दे में रखा जाता था।बताया जाता है दोनों ही परिवार वाले इस शादी के लिए तैयार नहीं थे। लेकिन सुषमा स्वराज ने हिम्मत दिखाई थी और जैसे-तैसे परिवार को मनाकर शादी की थी।

  1. 20 साल बाद गीता को पाकिस्तान से लाई थी सुषमा-

बहुचर्चित घटनाक्रम में पाकिस्तान से करीब चार साल पहले भारत लौटी मूक-बधिर युवती गीता ने इशारों में बुधवार को पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के गुजर जाने से उसने अपनी अभिभावक को खो दिया है। गलती से सीमा लांघने के कारण गीता करीब 20 साल पहले पाकिस्तान पहुंच गयी थी। स्वराज के विशेष प्रयासों के कारण ही वह 26 अक्टूबर 2015 को स्वदेश लौट सकी थी।

  1. भाषण

भारतीय राजनीति में उन्होंने प्रखर और ओजस्वी वक्ता के तौर पर भी अपनी पहचान बनाई। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के बाद उन्हें बीजेपी का सबसे प्रखर वक्ता माना जाता था। देश और विदेश में दिए उनके भाषण अब इतिहास का हिस्सा बन चुके हैं।

  1. हर दल में थे सुषमा स्वराज के प्रशंसक-

भारतीय राजनीति में सुषमा स्वराज के प्रशंसक हर दल में थे। जो उनके भाषण और कार्य की प्रशंसा को याद करते हुए उन्हें भी श्रद्धांजलि दी-

कैप्टन अमरिंदर सिंह, मुख्यमंत्री 

हरसिमरत कौर बादल, केंद्रीय मंत्री

सुखबीर बादल, अध्यक्ष, शिरोमणि अकाली दल व सांसद

हरदीप पुरी, केंद्रीय मंत्री

सनी देयोल, भाजपा सांसद, गुरदासपुर

समेत देश के सभी बड़े नेताओं ने आयरन लेडी को श्रद्धांजलि देते हुए उन्हें याद किया।