फिर कांग्रेस के लिए भाग्यशाली साबित हुईं सोनिया, अध्यक्ष बनते ही आई खुशखबरी…

0
1139
फिर कांग्रेस के लिए भाग्यशाली साबित हुईं सोनिया, अध्यक्ष बनते ही आई खुशखबरी...

लंबे इंतजार के बाद कांग्रेस ने अपने लिए अंतरिम अध्यक्ष तलाश लिया। पार्टी नेताओं ने एकमत होकर सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष चुन लिया।

लोकसभा 2019 का चुनाव हारने के बाद कांग्रेश बहुत ही खराब स्थिति में पहुंच गई थी। किसी को उम्मीद नहीं थी कि कांग्रेस पार्टी लोकसभा चुनाव 2019 में इतनी बुरी तरह पराजित हो जाएगी। हार के तुरंत बाद ही कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफा देने का ऐलान कर दिया। उन्हें मनाने की की गई लेकिन वह अपनी जिद पर अड़े रहे।

कांग्रेस संसदीय दल की नेता चुनी गईं सोनिया गांधी, बैठक में लिया गया फैसला

फिर कांग्रेस के लिए भाग्यशाली साबित हुईं सोनिया, अध्यक्ष बनते ही आई खुशखबरी...
परेशानियों का दौर खत्म नहीं हो रहा था कि कर्नाटक से भी बुरी खबर आनी शुरू हो गई। कर्नाटक में कई कांग्रेस गठबंधन विधायकों ने अचानक इस्तीफा दे दिया जिसके बाद कर्नाटक से कांग्रेस की सरकार जाती रही और वहां पर बीजेपी ने अपनी सरकार बनाई। अब पार्टी को संभालने के लिए कांग्रेश को एक नए अध्यक्ष की जरूरत थी।

सोनिया गांधी के कांग्रेस में अंतरिम अध्यक्ष बनते ही शत्रुघ्न सिन्हा ने दिया बड़ा बयान

लंबे इंतजार के बाद कांग्रेस ने अपने लिए अंतरिम अध्यक्ष तलाश लिया। पार्टी नेताओं ने एकमत होकर सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष चुन लिया। वहीं राहुल गांधी का इस्तीफा भी स्वीकार कर लिया गया। सोनिया गांधी ने पार्टी की कमान संभाल ली है और वो पार्टी के लिए भाग्यशाली भी साबित हुई हैं। उनके नेतृत्व संभालते ही पार्टी के लिए बड़ी खुशखबरी आ गई।

फिर कांग्रेस के लिए भाग्यशाली साबित हुईं सोनिया, अध्यक्ष बनते ही आई खुशखबरी...

सोनिया गांधी के कमान संभालते ही कांग्रेस के लिए बड़ी खुशखबरी पश्चिम बंगाल से आई है। यहां कांग्रेस को बड़ी सफलता मिल गई है। बंगाल में तीन सीटों पर होने वाले उपचुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ी पार्टी का साथ मिल गया है। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने उपचुनाव के लिए कांग्रेस के साथ गठजोड़ का फैसला ले लिया है। इसका ऐलान भी कांग्रेस के बंगाल अध्यक्ष सौमित्र सेन ने कर दिया है। कांग्रेस उत्तर दिनाजपुर जिले की कालियागंज सीट के अलावा पश्चिम मेदिनीपुर की खड़गपुर सीट पर चुनाव लड़ेगी। वहीं माकपा नदिया जिले के करीमपुर सीट पर अपना प्रत्याशी उतारेगी। माकपा के साथ आने पर कांग्रेस बंगाल में काफी मजबूत स्थिति में आ गई है।