पूर्व आईएएस अफसर शाह फैसल की पार्टी से राजनीतिक करियर शुरू करने वाली जेएनयू पदाधिकारी रही शहला राशिद फिर से चर्चा में आ गई हैं।

शहला राशिद राजनीति में आने के बाद ही नहीं बल्कि उससे पहले भी सुर्खियों में बनी रहती थी। जेएनयू में पढ़ाई के दौरान शेहला रशीदकाफी चर्चा का विषय रही। कन्हैया कुमार के साथ मिलकर उन्होंने कई प्रदर्शन किए। अपने पढ़ाई पूरी करने के बाद 2019 लोकसभा चुनाव के बाद से ही शहला राशिदने राजनीतिक में कदम रखा है।

पी चिदंबरम की गिरफ़्तारी पर कुमार विश्वास का बड़ा बयान सामने आया है, उन्होंने कहा कि…

जंतर मंतर पर शहला राशिद और पत्रकार के बीच में बहस,

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर उन्होंने सेना की कार्यवाही पर भी कई तरह के सवाल उठाए। हाल ही में उन्होंने एक ट्वीट कर खलबली मचा दी थी। अपने ट्वीट में उन्होंने सेना द्वारा कश्मीरियों पर ज्यादती का आरोप लगाया था। सेना के अधिकारियों ने इस आरोप का खंडन किया था। पूर्व आईएएस अफसर शाह फैसल की पार्टी से राजनीतिक करियर शुरू करने वाली जेएनयू पदाधिकारी रही शहला राशिद फिर से चर्चा में आ गई हैं।

परेश रावल ने शहला राशिद को दिया है ऐसा जवाब कि लोग बोले…

जंतर मंतर पर शहला राशिद और पत्रकार के बीच में बहस,

शहला राशिदके इस बयान से सेना के कुछ अधिकारी काफी नाराज दिखे थे। शहला राशिद के इस बयान की वजह से ही एक वकील ने उनके खिलाफ आपराधिक शिकायत दर्ज करा दी थी। अब हाल ही में शहला राशिद ने एक और सनसनीखेज बयान दे दिया है। हाल ही में जंतर मंतर पर एक पत्रकार ने उनसे सेना पर दिए गए बयान पर सबूत मांगा तो शहला राशिदने कहा कि मैंने अपना बयान दे दिया है। अब जब भारतीय सेना मेरे खिलाफ कार्यवाही शुरु कर देगी तो मैं सबूत भी दे दूंगी। इसके बाद शहला राशिद ने पत्रकार के किसी भी प्रश्न का जवाब नहीं दिया और चुपचाप वहां से निकल गई।

जंतर मंतर पर शहला राशिद और पत्रकार के बीच में बहस,