मां बनने के बाद करीब दो साल (टेनिस) Tennis से दूर रहने वाली भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा ने धमाकेदार वापसी की है। 33 साल की सानिया ने आते ही (डब्ल्यूटीए सर्किट) WTA Circuit में जीत के साथ अपने नए साल की शुरूआत की है। इसी के साथ उन्होंने अपने बेटे (इजहान मिर्जा मलिक) Izhaan Mirza Malik के साथ जीत का जश्न भी मनाया।

 Virat Kohli नहीं कर सके Cricket के भगवान की बराबरी

सानिया मिर्जा ने इस जीत के बाद (होबार्ट इंटरनेशनल टूर्नामेंट) Hobart International Tournament के महिला युगल क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। सानिया ने अपनी (यूक्रेन) Ukraine की साथी नादिया किचेनोक के साथ मिलकर जापान की मियु काटो और जॉर्जिया की ओक्साना कलाश्निकोवा की जोड़ी को मात देकर क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली। करीब एक घंटा 41 मिनट तक चले इस मुकाबले में सानिया और किचेनोक की जोड़ी ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। उन्होंने ओक्साना कलाश्निकोवा और मियू केटो की जोड़ी को 2-6, 7-6 (3), 10-3 से हराया। जिसमें जिसके बाद अब इनका सामना क्वार्टर फाइनल में अमेरिका की क्रिस्टीना मैकहेल और वानिया किंग की जोड़ी से होगा।

इस गेंदबाज को भारत का शोएब अख्तर माना जाता था, करियर बर्बाद की वजह

इस जीत के बाद सानिया काफी खुश नजर आ रही हैं। उन्होंने इंस्टाग्राम के जरिए अपनी खुशी जाहिर की। इंस्टाग्राम पर सानिया मिर्जा ने अपने बेटे के साथ एक फोटो पोस्ट की। पोस्ट में अपनी खुशी जाहिर करते हुए लिखा, ‘यह मेरी जिंदगी का बहुत अहम दिन है। करीब ढाई साल बाद मैच के दौरान मुझे मेरे पेरेंट्स और मेरे बेटे का अच्छा सपोर्ट मिला। जिसके बाद हम मैच जीते भी। विश्वास आपसे कुछ भी करा सकता है और कहीं भी ले जा सकता है। सपोर्ट के लिए आप सभी का धन्यावद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here