अनुच्छेद 370 हटाने पर पत्रकार रवीश कुमार का आया बयान, कहा कश्मीर…..

0
3103
अनुच्छेद 370 हटाने पर पत्रकार रवीश कुमार काया बयान, कहा कश्मीर.....

पत्रकार रवीश ने अपने ब्लॉग में अनुच्छेद 370 हटाने पर बड़ा सवाल उठा दिया।

हाल ही में भारतीय जनता पार्टी ने ऐतिहासिक फैसला लेते हुए कश्मीर से अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया। जगह-जगह लोगों ने इसका अपने तरीके से जश्न मनाया तो कई जगह इसका विरोध भी देखने को मिला।  क्रिकेटर हो, कलाकार हो या आम आदमी हो सभी इस पर अपनी अपनी राय दे रहे हैं। कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने की चर्चा भारत ही नहीं विदेशों में भी हो रही है। पाकिस्तान की तरफ से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद कई तरह के बयान और धमकियां सामने आ रही है।

जहां कुछ नेता और पत्रकार इस फैसले का समर्थन कर रहे हैं तो दूसरी ओर कुछ नेता और पत्रकार इस फैसले पर सवाल भी उठा रहे हैं। पत्रकारिता जगत में रवीश कुमार एक जाना माना नाम है, हाल ही में एशिया का नोबेल कहे जाने वाले मैग्सेसे अवार्ड से उन्हें सम्मानित किया गया है। मैग्सेसे पुरस्कार विजेता पत्रकार रवीश कुमार ने भी इस मसले पर अपनी चुप्पी तोड़ दी है। उन्होंने अपने ब्लॉग में इस फैसले पर बड़ा सवाल उठा दिया है।

अनुच्छेद 370 हटाने पर पत्रकार रवीश कुमार काया बयान, कहा कश्मीर.....
पत्रकार रवीश कुमार ने इस मामले पर अपने ब्लॉग में लिखा है कि भारत के आम लोगों में जम्मू कश्मीर को लेकर एक अलग ही समझ है। वो कहते हैं कि ये समझ कई सालों से बनी हुई है। रवीश बोले कि भाजपा और संघ लोगों को ये समझाने में कामयाब हो गए कि अनुच्छेद 370 की वजह से कश्मीर इस देश का पूरा हिस्सा नहीं बन सका है।

कैंसर से लड़ रहे अरुण जेटली की ऐसी है शख्सियत

पत्रकार  रवीश ने अपने ब्लॉग में अनुच्छेद 370 हटाने पर बड़ा सवाल उठा दिया। वो बोले कि क्या इस फैसले को लेने से पहले कश्मीर से पूछा गया कि उसकी राय क्या है। उन्होंने पूछा कि जम्मू और लद्दाख की प्रतिक्रिया जानने की कोशिश की गई। रवीश ने कहा कि कश्मीर कैसे सांस ले रहा है, किसी को खबर नहीं है। वो बोले कि पहले महबूबा और उमर को नजरबंद किया गया और बाद में गिरफ्तार कर लिया। वो बोले कि लोकसभा में नेशनल कांफ्रेंस के तीन सांसद हैं। राज्यसभा में पीडीपी के दो सांसद हैं। ये तो अलगाववादी नहीं थे फिर इनकी राय क्यों नहीं ली गई।