बीसीसीआई के एथिक्स ऑफिसर ने कई पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों को हितों के टकराव मामले में नोटिस भेजा जा चुका है। इसमें पूर्व क्रिकेटर राहुल दविड़ का नाम भी शामिल हो गया है।

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड में हितों के टकराव का मामला हमेशा से चर्चा में बना रहता है। जिसको लेकर बीसीसीआई के एथिक्स ऑफिसर ने कई पूर्व दिग्गज खिलाड़ियों को हितों के टकराव मामले में नोटिस भेजा जा चुका है। अब इस कड़ी में पूर्व क्रिकेटर राहुल दविड़ का नाम भी शामिल हो गया है। जिनको हितों के टकराव के चलते बीसीसीआई की तरफ से उन्हें नोटिस जारी किया गया था। जिसमें उन्हें एथिक्स ऑफिसर ने पेश होने के लिए कहा था।

इसी के तहत राहुल द्रविड़ ने हितों के टकराव मामले में BCCI के एथिक्स ऑफिसर डीके जैन के सामने पेश होकर अपना पक्ष रखा। आपको बता दें कि मध्य प्रदेश क्रिकेट संघ के सदस्य संजीव गुप्ता ने शिकायत दर्ज कराते हुए कहा था कि द्रविड़ ने राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी का निदेशक पद संभालने से पहले इंडिया सीमेंट्स से अवकाश लिया है और अपने पद से इस्तीफा नहीं दिया है।

CAB में एक बार फिर से ‘दादा’ की बादशाहत, निर्विरोध चुने गए CAB के अध्यक्ष

इस मामले में सीओए ने द्रविड़ का समर्थन किया है और विनोद राय ने आरबीआई के पूर्व गर्वनर रघुराम राजन का हवाला देते हुए कहा कि उन्होंने शिकागो विश्वविद्यालय में अपनी शिक्षक की भूमिका से अवकाश लिया था।’

साथ ही उन्होंने कहा कि राहुल द्रविड़ ने पहले ही घोषित किया है कि वह इंडिया सीमेंट्स से कोई वेतन नहीं लेते हैं। ऐसे में उनके खिलाफ हितों के टकराव का कोई मामला नहीं बनता है।

माना  यह जा रहा है कि राहुल द्रविड़ को अपने पद से इस्तीफा देने के लिए कहा जा सकता है।

जीरो पर कभी आउट नहीं हुए दुनिया के ये बल्लेबाज, एक भारतीय भी शामिल…