भावुक हुए प्रधानमंत्री मोदी, कही ह्रदय से कुछ बाते

0
468
भावुक हुए प्रधानमंत्री मोदी, कही ह्रदय से कुछ बाते

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की विजय यात्रा खत्म कर वतन वापस आ गए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तीन देशों की विजय यात्रा खत्म कर वतन वापस आ गए हैं।  प्रधानमंत्री मोदी कैलाश कॉलोनी में जेटली जी के आवास पर पहुंचे और उनकी पत्नी संगीता जेटली, उनकी बेटी सोनाली जेटली और उनके बेटे रोहन जेटली के साथ बात की।

अरुण जेटली का बीते शनिवार 24 अगस्त को दोपहर 12.07 बजे दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हो गया था। रविवार दोपहर को निगम बोध घाट पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। मोदी ने बहरीन में भारतीय समुदाय के साथ बात करते हुए जेटली जी की मृत्यु से होने वाले कष्ट के बारे में बयान दिया। पीएम मोदी ने बेहद भावुक लहजे में कहा, ‘दोस्तों जिसके साथ वह सार्वजनिक जीवन और राजनीतिक यात्राओं में कदम से कदम मिलाता है। भावुक हुए प्रधानमंत्री मोदी, कही ह्रदय से कुछ बाते

 

उन्होंने कहा, मैं सोच भी नहीं सकता कि मैं यहां बैठा हूं और मेरा दोस्त अरुण चला गया है। हर समय एक-दूसरे के साथ जुड़े रहें और एक साथ लड़ें भी। जिन दोस्तों के साथ अरुण जेटली सपने सजाते हैं और सपनों को पूरा करने के लिए यात्रा करते हैं, आज अपना शरीर छोड़ देते हैं।‘

पीएम मोदी ने तब कहा था, ‘मैंने बड़ी दुविधा के क्षणों का अनुभव किया। एक तरफ मैं कर्तव्यों से बंधा हूं और दूसरी तरफ दोस्ती की एक श्रृंखला है जो भावनाओं से भरी है। मोदी ने तब भावुक लहजे से कहा, “मैं बहरीन की धरती से भाई अरुण को श्रद्धांजलि देता हूं।”

प्रधानमंत्री मोदी कैलाश कॉलोनी में जेटली के आवास पर पहुंचे और उनकी पत्नी संगीता जेटली, उनकी बेटी सोनाली जेटली और उनके बेटे रोहन जेटली के साथ बात की। जब आंतरिक मंत्री अमित शाह उनके सामने जेटली के घर पहुंचे, तो पीएम मोदी स्वर्गीय जेटली के घर पर थे और वहाँ उनका सम्मान किया। उन्होंने जेटली के फोटो को सलाम किया।

आपको बता दें कि पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का निधन होने के वक़्त प्रधानमंत्री मोदी विदेश में थे। तब रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने जेटली को श्रद्धांजलि दी थी। पीएम इसके बाद वहीं बहरीन से ही जेटली के परिवार के साथ बातचीत करते हैं। जेटली के बेटे रोहन ने भी पीएम मोदी से देश के लिए काम करने के दौरान दौरा नहीं छोड़ने को कहा।