ओवैसी ने ट्विट कर कहा कि मोहन भागवत भारत को हिंदू राष्ट्र बताकर इतिहास को मिटा नहीं सकते हैं।

हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन औवेसी और उनके भाई अकबरुद्दीन औवेसी हमेशा से अपने विवादित बयानों के लिए जाने जाते है। भारतीय राजनीति में वो मुसलमानों की हक की आवाज हमेशा से उठाते आ रहे है। हाल ही में संसद में भी गृहमंत्री अमित शाह और असदुद्दीन औवेसी के बीच तीखी नोकझोंक देखने को मिली थी।

political

इस  बार औवेसी ने मोहन भागवत के बयान पर पलटवार करते हुए भारत को हिंदु राष्ट्र कहने से ही इंकार कर दिया है। उन्होंने कहा कि भारत न कभी हिंदू राष्ट्र था, ना है और न ही कभी बनेगा।

मोहन भागवत पर निशाना साधते हुए ओवैसी ने ट्विट कर कहा कि मोहन भागवत भारत को हिंदू राष्ट्र बताकर इतिहास को मिटा नहीं सकते हैं। उन्होंने कहा कि आरएसएस के सरसंघचालक भागवत यह नहीं कह सकते हैं कि हमारी संस्कृति, आस्था, पंथ और व्यक्तिगत पहचान समेत सब कुछ हिंदू संस्कृति में शामिल है।

political

औवेसी के इस बयान के बाद से राजनेताओं के साथ-साथ लोगों ने भी इस पर अपनी प्रतिक्रिया देनी शुरु कर दी है। औवेसी के ट्विट को रिट्विट करते हुए अमित कुमार ने लिखा है कि भारत की धरती में हिंतुत्व को कोई खत्म कर दे किसी में इतना दम नहीं।