इस कड़ी में राजस्थान के उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट का नाम भी जुड़ गया है।

राजस्थान के कोटा में बच्चों की मौत पर विवाद बढ़ता जा रहा है। कोटा में बच्चों की मौत का आंकड़ा अब 107 के पार पहुंच चुका है। इस मामले पर राजनीति भी खूब हो रही है। मायावती ने इस मामले पर प्रियंका गांधी से लेकर गहलोत सरकार तक को घेरा है। अब इस कड़ी में राजस्थान के उप-मुख्यमंत्री सचिन पायलट का नाम भी जुड़ गया है। शनिवार को पायलट कोटा अस्पताल पहुंचे। अस्पताल पहूंचने के बाद सचिन पायलट ने भी सरकार के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर निशाना साधा है।

कोटा में बच्चों की मौत पर अब सचिन पायलट ने गहलोत पर साधा निशाना, कहा.

सचिन पायलट ने गहलोत पर निशाना साधते हुए कहा कि, ‘ पहले क्या हुआ इस पर चर्चा नहीं होनी चाहिए। वसुंधरा को जनता ने हरा दिया अब जिम्मेदारी हमारी है।’ साथ ही उन्होंने कहा कि हम जिम्मेदारी से नहीं बच सकते हैं। हमें जिम्मेदारी तय करनी होगी। कोटा में बच्चों की मौत का सिलसिला लगातार बढ़ रहा है। जिसको लेकर सरकार की लापरवाही साफतौर से देखी गई। जिसके चलते राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग ने सरकार को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। अब इस मामले के बाद सरकार इससे कितना सबक लेती है ये देखने वाली बात होगी।

वैसे राजस्थान में बच्चों की मौत का ये पहला मामला नहीं है। कोटा में 2014 में भी अस्पताल में 15719 बच्चे भर्ती हुए थे। जिसमें से 1198 बच्चों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। इसके अलावा 2015 में 17579 बच्चों को भर्ती करवाया गया था। लेकिन यहां भी 1260 बच्चों को बचाया नहीं जा सका। तो वहीं साल 2019-20 में ये सिलसिला अब जारी है। राजस्थान में आलम ये है कि कोटा के बाद अब बूंदी में भी पिछले एक महीने से 10 बच्चों ने दम तोड़ दिया है। अब ऐसे में इसे अस्पताल प्रशासन की लापरवाही कहें या सरकार का ढीलढाल रवैया जिसके चलते इतना सब हो जाने के बाद भी इसको लेकर अब तक कोई सख्त कदम नहीं उठाया गया है।