निर्भया कांड के चारों आरोपियों  के लिए 25 लाख रुपए लगाकर एक नया फांसी का घर बनाया गया है। साथ ही तिहाड़- प्रशासन ने पहले ही चारों दोषियों को फांसी पर लटकाने की बात साफ कर दी

16 दिसंबर 2012 को देश की राजधानी में 23 साल की पैरामेडिकल छात्रा के साथ चलती बस में गैंगरेप हुआ था। इस केस को निर्भया कांड के नाम से भी जाना जाता है। आपको बता दें कि इस छात्रा ने 29 दिसंबर 2012 को दम तोड़ दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में दोषी विनय, मुकेश, पवन और अक्षय को फांसी की सजा सुनाई थी लेकिन 2012 से अभी तक वो तिहाड़ जेल में अपनी सजा काट रहे हैं। इन में से एक आरोपी रामसिंह ने तिहाड़ जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। बता दें कि भले ही इन आरोपियों को अभी तक फांसी पर लटकाने की तारिख न आई हो लेकिन तिहाड़ जेल के प्रशासन ने चारों आरोपियों को फांसी देने की पूरी तैयारी कर ली है। बता दें कि इन चारों आरोपियों के लिए 25 लाख रुपए लगाकर एक नया फांसी का घर बनाया गया है। तो वहीं तिहाड़- प्रशासन ने पहले ही चारों दोषियों को फांसी पर लटकाने की बात साफ कर दी हैं। तिहाड़ जेल के महानिदेशक से बातचीत के दौरान कहा कि चारों गुनहगारों पवन, विनय, अक्षय और मुकेश को एक साथ फांसी दी जाएगी। और इसकी व्यवस्था भी कर ली गई है। अदालत का आदेश आते ही उन्हे फांसी देने में समय नहीं लगाया जाएगा।

तिहाड़-प्रशासन ने की निर्भया के आरोपियों को फांसी पर लटकाने की पूरी तैयारी

आपको बता दें कि फांसी घर ऐसा तैयार किया गया है जहां एक साथ चारों को फांसी पर लटकते देखा जा सकता है। साथ ही अब चारों को एक साथ फांसी देने के लिए तिहाड़- प्रशासन 4 जल्लादों को बुला सकती है। वहीं फांसी से बचने के लिए निर्भया के आरोपियों ने जेल में एक नई साजिश रचने की कोशिश की। उन्होंने ने सोचा ऐसे उनकी कोशिश से एक नया केस दर्ज हो जाएगा जिससे उनकी फांसी की सजा कुछ समय तक रुक जाएगी।

कब आएगी निर्भया गैंगरेप केस के आरोपियों की बारी और कितना इंतजार…