Nirbhaya के दोषियों के नाम Delhi के पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वारंट जारी कर दिया है।

इन दिनों पवन जल्लाद का नाम खुब सुर्खियों में रहा है। क्योंकि ये माना जा रहा है कि पवन जल्लाद ही वो व्यक्ति है जिसके हाथों निर्भया के दोषियों को फांसी की सजा दी जाएगी। पवन जल्लाद ने भी बहुत बार Media के सामने अपनी इच्छा जाहिर की थी। निर्भया के दोषियों के नाम दिल्ली के पटियाला हाउस  कोर्ट ने डेथ वारंट जारी कर दिया है। फांसी के लिए 22 जनवरी सुबह 7 बजे का समय मुकर्रर किया है। फांसी दिल्ली के तिहाड़ जेल में दी जाएगी।

निर्भया के आरोपियों को फांसी, खत्म हुआ इंतजार…

क्या Pawan जल्लाद को फांसी देने के लिए Tihar बुलाया गया है

निर्भया के चारों दोषियों को फांसी एक साथ होगी। सुत्रों की अनुसार ऐसी खबर  रही है कि हो सकता है कि पवन जल्लाद 20 जनवरी को तिहाड़ जेल जाएगा। जेल के सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार गुरुवार को पवन जल्लाद मेरठ जेल पहुंचा। जल्लाद ने जेल अधिकारियों से कहकर फांसी घर बुलाया । वहां के प्लेटफॉर्म के लंबाई, चौड़ाई, ऊंचाई की स्थिति देखी। पूरे फांसी घर का मुआयना किया और उसके बाद फांसी से संबंधित तकनीकों के ऊपर बातचीत की। हालांकि जेल मेरठ जेल के अधीक्षक ने बताया कि बीडी पांडेय ने बताया कि अभी तिहाड़ जेल प्रशासन की ओर से पवन जल्लाद को बुलाने के लिए कोई तारीख तय नहीं की है। जैसे ही तिहाड़ से निर्देश मिलेंगे पवन जल्लाद को दिल्ली भेज दिया जाएगा।

तिहाड़-प्रशासन ने की निर्भया के आरोपियों को फांसी पर लटकाने की पूरी तैयारी

क्या Pawan जल्लाद को फांसी देने के लिए Tihar बुलाया गया है

आपको बता दें कि सभी जेलों में फांसी घर एक स्टैंडर्ड साइज के बने हुए हैं। इसलिए ऐसा माना जा रहा है कि हो सकता है पवन जल्लाद तकनीकी चीजों को समझने के लिए वहां पर भेजा गया हो। आमुमन ऐसा होता है कि ऐसी अधिकारिक चीजों को गुप्त तरीके से अंजाम दिया जाता है। ये भी एक कारण माना जा रहा है कि पवन जल्लाद या मेरठ के अधीक्षक इस मामले पर कुछ भी कहने से बच रहे हैं। हालांकि ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले 10 दिनों के अंदर ये पूरे तरह से साफ हो जाएगा कि क्यूरेटिव पिटीशन और पुर्ण विचार याचिका के कारण फांसी की तारीख आगे बढ़ती है या फरमान के अनुसार तय समय पर ही फांसी दे दी जाती है।

निर्भया के दोषियों के खिलाफ जल्द जारी होगा डेथ वारंट, 7 जनवरी तक टली…