हाथ में पैरो जैसी अंगुली और पैर में हाथों जैसी अंगुली, क्या है ये अजीब बिमारी

0
801
हाथ में पैरो जैसी अंगुली और पैर में हाथों जैसी अंगुली, क्या है ये अजीब बिमारी

कानपुर देहात में पाई गयी ये अनोखी पीढ़ी दर पीढ़ी वाली बिमारी

पूरी दुनिया भर में पीढ़ी दर पीढ़ी फैलने वाली बीमारी (ऑटोसोमल डोमिनेंट) सामने आई है जहां कानपुर में भी ये मामला सामने आया है। इस बीमारी से एक-दो नहीं बल्कि परिवार के पूरे आठ लोग पीड़ित हैं। इसमें पैर के पंजे हाथ की तरह पतले, लंबी और टेढ़ी अंगुलियों जैसे हो जाते हैं। हाथ की अंगुलियां भी एक में मिलने लगती हैं। व्यक्ति के चलने, सामान उठाने और रोजमर्रा के काम करने में बेहद परेशानी होती है।

कानपुर देहात के सीएमओ ने इस बीमारी के सामने आने के बाद गणेश शंकर विद्यार्थी मेमोरियल (जीएसवीएम) मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल को शोध के लिए पत्र लिखा है। यहां के बाल रोग विभाग के चिकित्सकों ने पीड़ित परिवार को जांच के लिए बुलाया है। यह पहला मामला है, जिसमें परिवार के इतने लोग एक साथ पीड़ित हैं। यह बीमारी पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ती है। इस परिवार में अब तक 12 लोग इस बीमारी की चपेट में आए चुके हैं। जिनमें चार की मौत हो चुकी है।

पीढ़ी दर पीढ़ी बढ़ी बीमारी 
अकबरपुर तहसील के जगजीवनपुर के बरकाती इस बीमारी से पीड़ित थे। उनकी मौत हो चुकी है। दो बेटे अशफाक व इशहाक एवं बेटी तजबुल को भी यह बीमारी हुई। तजबुल की भी मौत हो चुकी है। अब अशफाक के दो बेटे आठ साल के राशिद, 11 वर्षीय साहिल और बेटी पांच वर्षीय जेबा को यह बीमारी हो गई है। जबकि दो पीड़ित बेटों की मौत हो चुकी है। इसहाक की दो बेटियों 12 वर्षीय जैनब, छह वर्षीय आफरीन और बेटे आठ वर्षीय अरशद को भी इस बीमारी ने नहीं छोड़ा। तजबुल की एक बेटी है और उसमें भी इस बीमारी के लक्षण हैं। खास बात यह है कि बरकाती, अशफाक और इशहाक की पत्नियों को यह बीमारी नहीं हुई।