मायावती ने कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने अपने देहांत से कुछ वक्त पहले ही अपने धर्म को बदलकर बौद्ध धर्म अपना लिया था।

भारतीय राजनीति में मायावती का एक बहुत बड़ा स्थान रहा है। मायावती कई सालों से राजनीति में है और वह कई बार उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री भी रह चुकी हैं। लेकिन वह पिछले दो विधानसभा चुनाव उत्तर प्रदेश में हार गई। बहुजन समाजवादी पार्टी की मुखिया मायावती फिर से पार्टी को पटरी पर लाने की पुरजोर कोशिश कर रही है। वह उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि महाराष्ट्र के विधानसभा चुनाव में भी रैलियां कर रही हैं।

सीरिया पर बम बरसा रहे तुर्की को अमेरिका ने दिया बड़ा झटका

जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में महाराष्ट्र चुनाव के लिए मायावती ने नागपुर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए बड़ा बयान दिया है। उन्होंने अपने बयान में कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की तरह वह भी बौद्ध धर्म को अपनाने जा रही हैं। उन्होंने मोहन भागवत के भारत को हिंदू राष्ट्र बनाए जाने वाले बयान को लेकर भी तीखी प्रतिक्रिया की। बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि मुस्लिम समाज मोहन भागवत के इस बयान से बहुत नाराज हैं।

Image result for Buddhismमायावती ने महाराष्ट्र में प्रचार करने के दौरान कहा कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर ने अपने देहांत से कुछ वक्त पहले ही अपने धर्म को बदलकर बौद्ध धर्म अपना लिया था। मैं भी सही समय आने पर बौद्ध धर्म अपना लूंगी। इतना ही नहीं बल्कि उन्होंने लोगों को भी धर्मांतरण करने की सलाह दे डाली। उन्होंने आगे कहा कि मुझे इस बात का बहुत दुख है कि लोग भीमराव अंबेडकर जी के बताए हुए रास्ते पर नहीं चलते हैं।

अयोध्या में अचानक धारा 144 लागू, जानिए किसके हक में जा रहा है फैसला?