दलित आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान पर, मायावती का बड़ा बयान सामने आया, बोली…

0
570
दलित आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान पर, मायावती का बड़ा बयान सामने आया, बोली...

मोहन भागवत vs मायावती

डॉ भीमराव अंबेडकर के द्वारा बनाए गए संविधान के हिसाब से ही दलितों को बहुत पुराने समय से आरक्षण मिलता रहा है। इस आरक्षण के बदौलत ही पिछले कुछ सालों में दलित जाति ने बहुत तरक्की की है, लेकिन पिछले कुछ समय से दलितों को मिलने वाले आरक्षण का मुद्दा चर्चा का विषय रहा है। इसका विरोध भी हुआ और इसे हटाए जाने के लिए रैलियाँ भी निकाली गई। यह मुद्दा एक बार फिर से गरमाया हुआ है। इस बार टिप्पणी दलित आरक्षण पर किसी छोटे-मोटे नेता ने नहीं बल्कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत ने की है। उन्होंने एक बयान में कहा कि आरक्षण विरोधियों और समर्थकों को आपस में बैठकर बात करनी चाहिए।

दलित आरक्षण पर मोहन भागवत के बयान पर, मायावती का बड़ा बयान सामने आया, बोली...

पिछले कुछ समय से दलितों को मिलने वाले आरक्षण का मुद्दा चर्चा का विषय रहा है।

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने रविवार को दलित आरक्षण पर एक बड़ा बयान दिया है। रविवार को एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने कहा कि रिजर्वेशन का समर्थन करने वाले लोगों को आरक्षण विरोधियों के हितों को ध्यान में रखना चाहिए। उन्होंने अपने बयान को आगे बढ़ाते हुए कहा कि मैंने पहले भी आरक्षण पर बात की थी लेकिन उसके बयान पर काफी हल्ला मच गया। कोई सार्थक चर्चा नहीं हो पाई और मुद्दा वास्तविकता से भटक गया।

मोहन भागवत के आरक्षण से जुड़े बयान पर बसपा सुप्रीमो मायावती भड़क गई हैं। उन्होंने कह दिया है कि संघ अपनी आरक्षण विरोधी मानसिकता को छोड़ दे तो ज्यादा बेहतर होगा। उन्होंने आरक्षण की व्यवस्था को मानवतावादी व्यवस्था बताते हुए कहा है कि संघ प्रमुख इस पर बहस करवाने की सलाह दे रहे हैं, ये संदेह की स्थिति पैदा कर रहा है। इसकी कोई आवश्यकता नहीं है। उन्होंने कहा कि आरक्षण से छेड़छाड़ अनुचित व अन्याय है।