पी चिदंबरम खुद सुप्रीम कोर्ट के एक बड़े वकील रह चुके हैं, इसलिए उन्होंने इस मामले में राहत पाने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी लगा दी थी

आख़िरकार भागदौड़ के बाद सीबीआई ने पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को अपनी गिरफ़्त में ले ही लिया। जानकारी के लिए बता दें कि सीबीआई पी चिदंबरम के घर पहुंची तब पूर्व वित्त मंत्री वहां मौजूद नहीं थे। उनका फोन भी स्विच ऑफ आ रहा था। उसके बाद जब सीबीआई दोबारा उनके घर पहुंची तो बाहर से दरवाज़ा बंद था। सीबीआई के अधिकारी दीवार कूदकर चिदंबरम के घर में घुसे और उन्हें वहीं से गिरफ्तार कर लिया गया। जिस पर बहुत सारे नेताओं के बयान सामने आ रहे हैं। कुछ बयान पी चिदंबरम के पक्ष में आ रहे हैं तो कुछ बयान पी चिदंबरम की इस हरकत का विरोध कर रहे हैं।

पी चिदंबरम की गिरफ़्तारी पर कुमार विश्वास का बड़ा बयान सामने आया है, उन्होंने कहा कि...

पी चिदंबरम खुद सुप्रीम कोर्ट के एक बड़े वकील रह चुके हैं, इसलिए उन्होंने इस मामले में राहत पाने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में अग्रिम जमानत की अर्जी लगा दी थी, लेकिन जस्टिस सुनील गौर ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी और जवाब में कहा कि याचिका स्वीकार करने से गलत संदेश जाएगा।

प्रवर्तन निदेशालय (ED) के दफ़्तर पहुंचे राज ठाकरे, मुंबई मे 4 जगहों पर लगी धारा 144…

कुमार विश्वास देश ही नहीं विदेशों में भी एक बड़ा नाम बन चुका है। वह एक बहुत अच्छे लेखक है और उनकी कविताओं के दीवाने भारत ही नहीं विदेशों में भी मिल जाते हैं। वर्तमान राजनीति में भी वह अपनी राय देते रहते हैं। पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने आम आदमी पार्टी के लिए बहुत काम किया है। पी चिदंबरम की गिरफ़्तारी पर कुमार विश्वास ने एक बयान दिया है।

पी चिदंबरम की गिरफ़्तारी पर कुमार विश्वास का बड़ा बयान सामने आया है, उन्होंने कहा कि...

सभी को यह देखकर हैरानी हो रही थी कि पी चिदंबरम जैसे बड़े नेता को पकड़ने के लिए भी सीबीआई को भी उनके घर की दीवार फांद कर अंदर जाना पड़ा। इस घटना पर कुमार विश्वास ने कहा कि जांच राजनीति से प्रेरित हो सकती है, लेकिन जांच से भागकर पूर्व गृहमंत्री अपना और अपनी पार्टी का नाम खराब कर रहे हैं और साथ ही अपने पक्ष को कमज़ोर भी कर रहे हैं। निर्दोष हैं तो मैदान में आइए और लड़ाई कीजिए।

आखिरकार नरेंद्र मोदी ने अपना वादा पूरा किया, जानिए पी चिदंबरम की गिरफ्तारी से क्या है इसका संबंध…