जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल को मिली राष्ट्रपति की मंजूरी

0
364
जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल को मिली राष्ट्रपति की मंजूरी

राष्ट्रपति से मंजूरी के बाद जम्मू-कश्मीर को मिला पूर्ण राज्य का दर्जा..

विशेष दर्जा संबंधी अनुच्छेद, धारा 370 को ख़त्म करने के एक निर्णायक फैसले के बाद जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल की राष्ट्रपति द्वारा मंजूरी एक एतिहासिक कदम है। बीते मंगलवार को ही लोकसभा ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल को मंजूरी दे दी थी। इस मुद्दे पर लोकसभा में वोटिंग के दौरान पक्ष में जहां 370 वोट पड़े, वहीं विपक्ष में 70 वोट पड़े यानि कि कुल 300 वोटों का अंतर रहा। जबकि समाजवादी पार्टी ने खुद को वोटिंग से अलग ही रखा।

 आज राष्ट्रपति द्वारा इस बिल को मंजूरी मिलने के बाद अब जम्मू-कश्मीर दो हिस्सों में बंट जाएगा। इस बिल के अनुसार जम्मू-कश्मीर अब केंद्र शासित प्रदेश होगा और साथ ही लद्दाख भी इससे अलग होकर केंद्र शासित प्रदेश बनेगा, और जम्मू-कश्मीर के पास ही खुद का विधानसभा होगा।

इस बिल के पास होने पर कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया समर्थन में बोले,’वह भारत में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख के पूर्ण विलय के लिए उठाए गए कदम की सराहना करते हैं। यह देश हित की बात है और मैं इसका समर्थन करता हूं। हालांकि बेहतर होता अगर संवैधानिक प्रक्रिया का पालन किया गया होता।‘ साथ ही बसपा अध्यक्ष मायावती भी इस बिल के समर्थन में मैदान में उतरी और कहा कि इससे लद्दाख में रह रहे बौद्ध लोगों को भी फायदा मिलेगा।