‘आभार रैली’ के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए पहली बार CAA पर उठ रहें तमाम सवालों और हिंसक प्रदर्शनों का जवाब दिया था।

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) जब से राज्यसभा और लोकसभा द्वारा पास किया गया है। तबसे पूरे देश में जगह जगह इसके खिलाफ प्रदर्शन किये जा रहें है। इनमें से कई प्रदर्शन काफी हिंसक भी रहें है। जिसके कारण देश का माहौल काफी गरमाया हुआ है। बता दें कि अब देशभर में चल रहें CAA विरोधी प्रदर्शनो और नारेबाजी को लेकर पीएम मोदी ने एक करारा जवाब दिया है। दरअसल पीएम मोदी ने CAA के सपोर्ट में सोशल मीडिया पर एक हैशटैग द्वारा मुहिम चलाई है। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल अकाउंट से एक ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि, ”#IndiaSupportsCAA क्योंकि CAA प्रताड़ित किये गये शरणार्थियों को नागरिकता देने के बारे में है। किसी की नागरिकता लेने के बारे में नहीं है। इस ट्विट में उन्होंने सबसे CAA के लिए अपना समर्थन दिखाने का अनुरोध किया है।

अखिलेश यादव ने CAA के बाद NRP की आग में घी डालने का काम…

बसपा MLA ने किया CAA का समर्थन तो पार्टी ने लिया ये कड़ा फैसला

बता दें कि इससे पहले हाल ही में राजधानी दिल्ली में आयोजित हुई ‘आभार रैली’ के दौरान पीएम नरेंद्र मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए पहली बार CAA पर उठ रहें तमाम सवालों और हिंसक प्रदर्शनों का जवाब दिया था। पीएम मोदी ने कहा था कि, ‘अगर आपको मैं पसंद नहीं हूं, मोदी से नफरत है, तो मोदी के पुतले को जूते मारो, मोदी का पुतला जलाओ लेकिन देश के गरीब का ऑटो मत जलाओ, किसी की संपत्ति मत जलाओ। सारा गुस्सा मोदी पर निकालो। हिंसा के बल पर आपको क्या मिलेगा। कुछ लोग पुलिस वालों पर पत्थर बरसा रहे हैं। पुलिस वाले किसी के दुश्मन नहीं होते। आजादी के बाद 33 हजार हमारे पुलिस भाइयों ने शांति और सुरक्षा के लिए शहादत दी है। ये आंकड़ा कम नहीं होता है।‘

अब एक बार फिर अपनी इस मुहिम द्वारा पीएम मोदी ने अपने इरादों को साफ कर दिया है कि वे किसी भी शर्त पर इस कानून को वापस नहीं लेने वाले है साथ ही अपने फैसले पर अडिग रहने वाले है।