भारत-साउथ अफ्रीका सीरीज में वैसे तो कई विवाद सामने आए है लेकिन आज हम आपको उन विवादों के बारे में बताने जा रहे हैं। जिन्होंने खेल की दुनिया में तहलका मचा दिया था।

क्रिकेट के खेल में जब भी दो देश आपस में भिड़ते हैं तो रोमांच की सारी हदें पार हो जाती है। खासकर तब जब बात दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच खेली जाने वाली सीरीज की हो। दोनों देशों के बीच अब तक खेली गई सीरीज का इतिहास भी काफी निराला है। बात चाहे सचिन तेंदुलकर के बॉल टेंपरिंग विवाद की हो या फिर हैंसी क्रोनिया के मैच फिक्सिंग की हर विवाद से आज हम आपको रु-ब-रु करवाने जा रहे है।

जब रोहित शर्मा की पत्नी के साथ पकड़े गए विराट कोहली, यही तो नहीं…

IND VS SA : इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच हुई सीरीज के वो विवाद जिन्होंने खेल का रुख ही बदल दिया

भारत-साउथ अफ्रीका सीरीज में वैसे तो कई विवाद सामने आए है लेकिन आज हम आपको उन विवादों के बारे में बताने जा रहे हैं। जिन्होंने खेल की दुनिया में तहलका मचा दिया था। रंगभेद जैसी नीतियों का ढंस झेलने के चलते 21 सालों तक क्रिकेट की दुनिया से दूर रहने के बाद सन् 1991 में साउथ अफ्रीका टीम ने वापसी के बाद अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच कोलकता के इडन गार्डस में खेला था। उस मैच से दक्षिण अफ्रीका टीम का क्रिकेट की दुनिया में फिर से जन्म हुआ था।

अफगानिस्तान के इन खिलाड़ियों ने किया 7 गेंदो में 7 छक्के लगाने का कारनामा

  • मांकड़िंग की कहानी : – 9 दिसंबर 1992 में पोर्ट एलिजाबेथ में खेले गए मैच में भारतीय टीम महज 147 पर ढेर हो गई थी। लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका टीम 20 रन पर अपना पहला विकेट गंवा चुकी थी। जिसके बाद पारी के 9वें ओवर में कपिल देव बल्लेबाज केपलर वेसल्स को गेंद फेंकने के लिए दौड़े ही थे की उन्होंने नॉन स्ट्राइकर एंड पर गिलियां बिखेर दी। क्योंकि पीटर कर्स्टन ने क्रिज छोड़ दी थी। जिसके बाद अंपायर साइरस मिचले ने कर्स्टन को आउट दे दिया था। जिसे मांकड़िंग कहा जाता है।

IND VS SA : इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच हुई सीरीज के वो विवाद जिन्होंने खेल का रुख ही बदल दिया

  • हैंसी क्रोनिए और मैच फिक्सिंग :- क्रिकेट के इतिहास में साल 2000 को एक काले अध्याय के तौर पर याद किया जाता है। जब दक्षिण अफ्रीका टीम के कप्तान हैंसी क्रोनिए ने मैच फिक्सिंग जैसा जूर्म कबूल किया था। 7 अप्रैल 2000 को दिल्ली पुलिस ने खुलासा किया था कि हैंसी क्रोनिए का नाम मैच फिक्सिंग में शामिल था। 19 मार्च 2000 में नागपुर में खेले गए सीरीज के पांचवे मैच में दक्षिण अफ्रीका टीम के कप्तान हैंसी क्रोनिए ने मैच फिक्सिंग की थी। जिसका खुलासा हर्शल गिब्स ने किया था।

IND VS SA : इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच हुई सीरीज के वो विवाद जिन्होंने खेल का रुख ही बदल दिया

  • सचिन तेंदुलकर पर लगा बॉल टेंपरिंग का आरोप :- साल 2001 में पोर्ट एलिजाबेथ में दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच खेला गया सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच रेफरी माइक डेनेस के विवाद की वजह से सुर्खियों में रहा। इस मैच में भारतीय टीम के छह खिलाड़ियों पर कई आरोप लगे, जिनमें अतिउत्साही अपील भी शामिल थी। लेकिन सभी को आश्चर्यचकित करते हुए डेनेस ने सचिन तेंदुलकर को गेंद से छेड़छाड़ का दोषी पाया। इससे भारत में नाराजगी फैल गई। बात इतनी बड़ी की मामला भारत की संसद में भी उठाया गया। डेनेस को नस्लवादी करार दिया गया और आईसीसी पर भारत के साथ भेदभाव करने का आरोप भी लगाया गया।

IND VS SA : इंडिया और साउथ अफ्रीका के बीच हुई सीरीज के वो विवाद जिन्होंने खेल का रुख ही बदल दिया