भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता चिन्मयानंद को एसआईटी ने 20 सितंबर को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था।

राजनीतिक तौर पर भारतीय जनता पार्टी सबसे सुनहरे दौर से गुजर रही है। सबसे पहले उसने 2014 में पूर्ण बहुमत से केंद्र में अपनी सरकार बनाकर इतिहास रचा। उसके बाद दूसरी बार लगातार 2019 में लोकसभा चुनाव पूर्ण बहुमत से जीत कर सबको चौंका दिया। एक तरफ जहां भारतीय जनता पार्टी देश की सबसे बड़ी पार्टी है और वह ऐतिहासिक फैसले लेने में लगी हुई है। वहीं दूसरी तरफ उसके कुछ नेता उसकी छवि खराब करने में लगे हुए हैं।

Image result for chinmayanand case

जानकारी के लिए बता दें कि भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता चिन्मयानंद को एसआईटी ने 20 सितंबर को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया था। चिन्मयानंद पर एक छात्रा के साथ बलात्कार करने का आरोप लगा है। छात्रा को चिन्मयानंद से रिश्वत मांगने के आरोप में 25 सितंबर को ही जेल भेज दिया गया था। जानकारी के लिए बता दें कि चिन्मयानंद की तरफ से जिला जज की अदालत में जमानत अर्जी दी गई थी जिस पर 30 सितंबर की तारीख सुनवाई के लिए दी गई थी।

Image result for chinmayanand caseगिरफ्तार करने के बाद भारतीय जनता पार्टी के नेता चिन्मयानंद को 14 दिन की हिरासत में भेज दिया गया था। चिन्मयानंद से रंगदारी मांगने के आरोप में पकड़े गए तीन आरोपी संजय सिंह, विक्रम सिंह, सचिन को भी इसी दिन पेश किया जाना है। जानकारी मिली है कि जेल में छात्रा और उसके तीन दोस्तों से परिवारजनों और मित्रों ने मुलाकात की है। छात्रा के पिता और भाई ने उसे आश्वासन दिया है कि जल्दी उसकी जमानत करा ली जाएगी।