हरिद्वार छोड़ उत्तराखंड के अन्य बारह जिलों के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम आने शुरू चुके हैं।

उत्तराखंड पंचायत चुनाव 2019 के लिए तीन चरणों में हुए मतदानों के लिए मतगणना का सिलसिला शुरु हो चुका है। राजधानी देहरादून समेत कुल 89 ब्लॉक मुख्यालयों पर सुबह 8 बजे से CCTV निगरानी के बीच वोटों की गिनती जारी है। चुनावों में कुल 33,882 प्रत्याशी दौड़ लगा रहे हैं। राज्य में तीन चरणों में पंचायत चुनाव की मतदान की प्रक्रिया हुई थी। हरिद्वार छोड़ उत्तराखंड के अन्य बारह जिलों के त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के परिणाम आने शुरू चुके हैं।

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में मतगणना का सिलसिला जारी

अब तक गिनती में तीन सौ ग्राम प्रधानों के नतीजे घोषित किए जा चुके हैं, साथ ही जिला पंचायत के भी तीन सीटों के परिणाम आ चुके हैं। चुनावों में राज्य में 1515 ग्राम पंचायतों के प्रधान और बीडीसी सदस्य निर्विरोध चुने जाने के कारण इन पर चुनाव नहीं हुआ। 12 जिलों के 89 विकासखंडों की 7485 ग्राम पंचायतों में तीन चरणों में ग्राम प्रधान, ग्राम पंचायत सदस्य, क्षेत्र व जिला पंचायत सदस्य पदों के लिए पांच, 11 व 16 अक्टूबर को मतदान हुआ था। 89 ब्लॉक मुख्यालयों में मतगणना जारी है। सुत्रों के अनुसार मतगणना के बाद के लिए भी बड़ी संख्या में कर्मचारी रखे गए हैं।

उत्तराखंड पंचायत चुनाव में मतगणना का सिलसिला जारीराज्य में जिला पंचायत सदस्यों की 356 सीटों पर वोटों की गिनती जारी है। इसके साथ ही ग्राम प्रधान और क्षेत्र पंचायत सदस्यों के निर्वाचन के लिए मतगणना केंद्रों पर काउंटिंग चल रही है। सुबह आठ बजे से 30 लाख 6378 मत गिने जा रहे हैं। सबसे पहले ग्राम प्रधान व ग्राम पंचायत सदस्य पदों के नतीजे आ रहे हैं। क्षेत्र पंचायत व जिला पंचायत सदस्य पदों के परिणाम आने में कुछ समय लग रहा है।