कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी मीडिया से बात करते हुए कहा कि वो बिल को कोर्ट में हर संभावनाओं में चुनौती देंगे।

देश के अलग-अलग हिस्सों में विरोध प्रदर्शन और विपक्ष के हंगामे के बीच नागरिकता संशोधन बिल लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी पास हो गया। कई पार्टियों ने इस बिल का विरोध किया तो कई इस बिल के समर्थन में भी सामने आई। जहां लोकसभा में बिल के पक्ष में 311 और विरोध में 80 वोट पड़े तो वहीं राज्यसभा में बिल को 125 का समर्थन मिला और 99 इसके विरोध में खड़े नजर आए। बिल पास होते ही पीएम मोदी ने ट्विटर के जरिए अपनी खुशी जाहिर की।

नागरिकता संशोधन बिल को कांग्रेस कोर्ट में देगी चुनौती

नागरिकता संशोधन विधेयक को संसद के दोनों सदनों से मंजूरी मिल गई है। राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद अब नागरिकता संशोधन बिल कानून बन जाएगा। लेकिन शायद अब इस बिल की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। खबर है कि कांग्रेस नागरिकता संशोधन बिल को कोर्ट में चैलेंज करने की तैयारी कर रही है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और संसद में इस विधेयक का जमकर विरोध करने वाले कपिल सिब्बल से जब इस बारे में पूछा गया कि क्या अब वे इस बिल का कोर्ट में चैलेंज करेंगे तो उन्होंने कहा, ‘देखेंगे।’ वहीं कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने भी मीडिया से बात करते हुए कहा कि वो बिल को कोर्ट में हर संभावनाओं में चुनौती देंगे।  तो वहीं पी. चिदंबरम ने भी कहा है कि कांग्रेस इस बिल को कोर्ट में चैलेंज करेगी। उन्होंने कहा था कि ये बिल कानून के सामने नहीं टिकेगा।

नागरिकता संशोधन बिल को कांग्रेस कोर्ट में देगी चुनौती

कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा कि नागरिकता संशोधन बिल के जरिए मुस्लिमों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। वहीं वहीं इस बात का जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि बिल का भारत के मुसलमानों से कोई लेनादेना नहीं है और किसी को भी देश में डरने की जरूरत नहीं है। आपको बता दें, बिल को देश के कई हिस्सों में विरोध झेलना पड़ रहा है। महाराष्ट्र कैडर के एक आईपीएस अधिकारी ने तो बिल के खिलाफ विरोध दर्ज कराते हुए इस्तीफा दे दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here