सपा नेता आज़म ख़ान पर भैंस चोरी के 4 अलग-अलग मुकदमें दर्ज

यूपी के रामपुर में तत्कालीन सपा सरकार के दौरान आज़म खां के तबेले से भैंस चोरी होने पर सूबे की पुलिस में हड़कंप मच गया था और पूरे उत्तर प्रदेश में भैसों को ढूंढा गया था। आपको बता दें कि 24 घंटे के भीतर पुलिस ने भैंसें बरामद करने का दावा भी किया था। आज़म खान की भैसों को पुलिस एस्कॉर्ट करते हुए सम्मान के साथ रामपुर लाई थी।

पी चिदंबरम की जमानत खारिज करने वाले जज को भाजपा की ओर से मिली खुशखबरी…

सपा नेता आज़म ख़ान ने चुराई भैंस, मुकदमा हुआ दर्ज़

अब वही आज़म खां गरीबों के तबेले से ज़बरन भैंसे खुलवाने के मामले में फंस गए हैं। आज़म ख़ान, उनके मीडिया प्रभारी फसाहत अली खां शानू, तत्कालीन सीओ सिटी आले हसन, एसओजी के एक सिपाही धर्मेंद्र समेत 36 लोगों के खिलाफ  शहर कोतवाली में चार अलग-अलग मुकदमें दर्ज किए गए हैं। आरोप यह है कि आज़म ख़ान ने यह सब रामपुर पब्लिक स्कूल के लिए ज़मीन कब्ज़ाने के लिए किया है। इसमें यतीमखाने के बाशिंदों तक के घरों तक को ढहा दिया गया था।

शहर कोतवाली क्षेत्र के मुहल्ला घोसियान में यतीमखाने की ज़मीन है। सपा सरकार में ज़मीन को खाली कराया गया था। जिस पर आज़म खां का रामपुर पब्लिक स्कूल वर्तमान में निर्माणाधीन है। पिछले दिनों फैसल लाला यतीमखाने के पीड़ित परिवारों के साथ डीएम और एसपी से मिले थे। यतीमखाना के लोगों ने डीएम-एसपी से शिकायत की थी कि 15 अक्तूबर 2016 को ये लोग उनके घर पहुंचे, घर का दरवाजा तोड़ दिया, घर में घुसकर मारपीट की और जेवर व नगदी को लूट लिया था। आरोपी भैंस भी खोल ले गए थे।

सपा नेता आज़म ख़ान ने चुराई भैंस, मुकदमा हुआ दर्ज़

राजनाथ सिंह का पाकिस्तान को तमाचा, कश्मीर के साथ पीओके भी है हमारा!

आरोप यह भी है कि तत्कालीन सीओ आले हसन खां ने शोर मचाने पर चरस बरामदगी दिखाकर जेल भेजने की धमकी दी थी। इन लोगों का कहना था कि यह जमीन आज़म खां की है, जहां स्कूल बनाया जाएगा। इसलिए छोड़कर चले जाओ। बाद में घरों पर बुल्डोजर चलवा दिया। इसके बाद यही आरोप लगाते हुए मन्ने, नन्हें, आसिफ अली और जाकिर अली ने शहर कोतवाली में तहरीर दी। पुलिस ने पहले इन आरोपों की जांच की और बाद में सभी नामजद आरोपियों और 30-35 अज्ञात लोगों के खिलाफ़ चार अलग-अलग मुकदमें दर्ज कर अपनी कार्यवाही शुरू कर दी है।