कहीं कोई CAA के विरोध में बोलता तो कहीं कोई CAA के पक्ष में बोलता नजर आता हैं।

देश भर में नागरिकता संशोधन कानून(CAA) को लेकर विवाद और विरोध प्रदर्शन अब तक जारी हैं। इतने दिन बीतने के बाद भी नेताओं की टिप्पणियां इसको लेकर लगातार आ रही हैं। हर दिन की शुरुआत के साथ कहींना कहीं नेताओं की बयान बाजी सामने आती हैं। कहीं कोई CAA के विरोध में बोलता तो कहीं कोई नागरिकता संशोधन कानून के पक्ष में बोलता नजर आता हैं।

CAA पर नसीहत देते हुए BJP नेता का बयान बोले,पाकिस्तान जाकर पूजा करें...

तो वहीं अब नागरिकता संशोधन कानून को लेकर समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष अखिलेश यादव पर यूपी बीजेपी चीफ स्वतंत्र देव सिंह के बयान पर विवाद देखने को मिल रहा हैं। आपको बता दें कि बीते दिनों अखिलेश यादव ने नागरिकता संशोधन कानून और एनपीआर को लेकर कहा था कि ‘हम संविधान बचाना चाहते हैं। लेकिन जिनसे मुकाबला है वे संविधान को कुछ नहीं समझते। नौजवानों को रोजगार चाहिए या एनपीआर? साथ ही सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि बीजेपी के लोग तय नहीं करेंगे कि हम इस देश के नागरिक हैं या नहीं। महात्मा गांधी ने दक्षिण अफ्रीका में रास्ता दिखाया था। उन्होंने कुछ कार्ड जला दिए थे। यहां हम पहले होंगे जो एनपीआर का फॉर्म नहीं भरेंगेमैं कोई फॉर्म नहीं भरने जा रहा।

CAA पर नसीहत देते हुए BJP नेता का बयान बोले,पाकिस्तान जाकर पूजा करें...

इस बयान का जवाब देते हुए बीजेपी चीफ स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव को पाकिस्तान जाना चाहिए और एक महीने तक किसी मंदिर में पूजा करनी चाहिए तब उन्हें समझ में आएगा कि वहां क्या होता है।उन्हें पता ही नहीं है कि वह चाहते क्या हैं। सिंह के मुताबिक जब अखिलेश यादव खुद ही पाकिस्तान जाकर वहां के हाल देखेगा तब शायद यह बयानबाजी बंद हो जाए ।