पहले सुषमा स्वराज का निधन हो गया उसके बाद अरुण जेटली का। इससे बीजेपी सरकार कमज़ोर पड़ती दिखाई दे रही है

भारतीय जनता पार्टी की किस्मत पिछले कुछ सालों से बहुत अच्छी चल रही है। भारतीय जनता पार्टी नेम मोदी के नेतृत्व में कई सालों बाद 2014 में लोकसभा चुनाव पूर्ण बहुमत से जीता। उसके बाद लगातार दूसरी बार इसमे लोकसभा चुनाव उन्होंने फिर से पूर्ण बहुमत से जीतकर इतिहास रच दिया। दूसरी बार सत्ता में आते ही मोदी सरकार ने कई ऐतिहासिक फैसले लिए इसमें तीन तलाक बिल पास कराना और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना प्रमुख रहे।

अरुण जेटली के अंतिम संस्कार में पहुंचे जेबकतरे…

अरुण जेटली और सुषमा स्वराज के बाद अब इस बड़े बीजेपी नेता की हुई मौत......

भारतीय जनता पार्टी की राजनीतिक सफर तो काफी अच्छा चल रहा है लेकिन एक ऐसी जगह है जहां वह लगातार पीछे होती जा रही है। दरअसल भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की मौत का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक के बाद एक नेताओं की मौत होने के बाद बीजेपी सरकार कमजोर पड़ती दिखाई दे रही है। पहले एक लंबी बीमारी से जूझ रही सुषमा स्वराज का निधन हो गया उसके बाद अरुण जेटली का भी निधन हो गया।

हार्ट अटैक से 10 मिनट पहले सुषमा स्वराज ने कि थी इस शख्स से बात…

सूत्रों के मुताबिक खबर मिली है कि सुषमा स्वराज और अरुण जेटली के बाद अब हरियाणा के बड़े भाजपा नेता देवीदास की भी मौत हो चुकी है। जानकारी के लिए बता दें कि देवीदास पिछले काफी दिनों से बीमार चल रहे थे उनको इलाज के लिए पिछले 6 महीने पहले वेंटिलेटर पर रखा गया था और तब से ही उनका इलाज लगातार जारी था। लेकिन पूरी कोशिशों के बाद भी मंगलवार को उनका निधन हो गया।

अरुण जेटली और सुषमा स्वराज के बाद अब इस बड़े बीजेपी नेता की हुई मौत......जानकारी के लिए बता दें कि देवीदास हरियाणा के एक बड़े नेता थे और कई सालों से वह बीजेपी पार्टी के साथ जुड़े हुए थे। देवीदास हरियाणा के सोनीपत सीट से 3 बार विधायक का चुनाव जीत चुके थे। देवीदास इमरजेंसी के बाद पहली बार 1977 में सोनीपत से विधायक बने थे इसके बाद 1982 का 1987 में भी सोनीपत के विधायक बने। उनकी लगातार जीतो को देखकर उन्हें हरियाणा के बड़े नेता के रूप में देखा जाता था।