पाकिस्तान भी कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर काफी परेशान दिखा। कश्मीर को लेकर पाकिस्तान कई बड़े देशों के पास भी गया लेकिन उसकी कहीं भी बात नहीं बनी।

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए हुए काफी दिन बीत चुके हैं लेकिन कश्मीर के हालात अभी भी नाजुक बने हुए है। इसीलिए केंद्र सरकार ने कुछ अलगाववादी नेताओं को अभी तक नजरबंद करके रखा हुआ है ताकि किसी तरह की हिंसा फैलने का खतरा ही पैदा ना हो। हाल ही में जनरल मनोज मुकुंदन नरवणे ने मंगलवार को देश के सेना प्रमुख की शपथ ली है। शपथ लेने के बाद ही उन्होंने कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर बड़ा बयान दिया है।

क्या है CDS की शक्तियां, क्यों पड़ी इस पद की ज़रूरत?

देश के 28वें सेना प्रमुख बनते ही कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर दिया बड़ा बयान..जानकारी के लिए बता दें कि जैसे ही भारतीय जनता पार्टी ने लोकसभा चुनाव 2019 पूर्ण बहुमत से जीता उसके तुरंत बाद उसने कई ऐतिहासिक फैसले लिए। तीन तलाक बिल पास कराना और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाना इसमें प्रमुख थे। कश्मीर से अचानक अनुच्छेद 370 समाप्त करने पर अलगाववादी नेता और विपक्षी पार्टी के नेताओं ने विरोध किया। पाकिस्तान भी कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर काफी परेशान दिखा। कश्मीर को लेकर पाकिस्तान कई बड़े देशों के पास भी गया लेकिन उसकी कहीं भी बात नहीं बनी।

पाकिस्तान ने फिर की कायराना हरकत, भारतीय सेना ने इस तरह…

देश के 28वें सेना प्रमुख बनते ही कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने पर दिया बड़ा बयान..कार्यभार संभालते ही नहीं सेना प्रमुख ने कश्मीर को लेकर कहा कि अनुच्छेद 370 को खत्म करने के बाद जम्मू कश्मीर में आतंकवादी गतिविधियों में महत्वपूर्ण गिरावट देखी गई है। पहले जितनी आतंकी घटनाएं बिल्कुल भी देखने को नहीं मिलती हैं। नियंत्रण रेखा पर संघर्ष विराम का उल्लंघन हो रहा है। उन्होंने अपने बयान को आगे बढ़ाते हुए कहा कि कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद वहां जमीनी सुधार देखे गए हैं। हिंसा की घटनाओं में बहुत ज्यादा गिरावट हुई है।