अगर आप भी ऑफिस में 9 घंटे से ज्यादा बैठकर काम करते हैं तो हो जाइए सावधान, जान को है खतरा

0
539
अगर आप भी ऑफिस में 9 घंटे से ज्यादा बैठकर काम करते हैं तो हो जाइए सावधान, जान को है खतरा

एक शोध में सामने आया है कि दिनभर में 9 घंटे से ज्यादा बैठकर काम करना आपकी सेहत के लिए खतरनाक है

कुछ लोग ऐसे होते हैं जो ऑफिस में कई घंटो तक लगातार बैठकर काम करते हैं, लेकिन एक शोध में सामने आया है कि दिनभर में 9 घंटे से ज्यादा बैठकर काम करना आपकी सेहत के लिए खतरनाक है  और ऐसा करना इतना खतरनाक हो सकता है कि इससे आपकी जान भी जा सकती है।

आपको बता दें, ये रिसर्च ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित हुई है। इसमें ये बात भी सामने आयी है कि 9 घंटे से ज्यादा जैसे-जैसे वक्त बीतता है तो हर एक घंटे के साथ मौत का ये खतरा भी उसी अनुपात में बढ़ता जाता है और नींद के समय को छोड़कर दिनभर में साढ़े नौ घंटे या उससे ज़्यादा वक्त तक बैठे रहने से मौत का खतरा बढ़ जाता है।

बता दे कि ये रिसर्च नॉर्वे के ओस्लो में नॉर्वेजियन स्कूल ऑफ स्पोर्ट्स साइंसेज़ में की गई है।

अगर आप भी ऑफिस में 9 घंटे से ज्यादा बैठकर काम करते हैं तो हो जाइए सावधान, जान को है खतरा

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ये रिसर्च नॉर्वे के ओस्लो में नॉर्वेजियन स्कूल ऑफ स्पोर्ट्स साइंसेज़ में की गई है। इसमें 36,383 प्रतिभागियों को शामिल किया गया। जिनपर करीब 6 वर्षों तक नज़र रखी गई। इन लोगों की औसत उम्र 62.6 साल थी। इस रिसर्च के लिये एक्सेलेरोमीटर का उपयोग किया गया। ये दरअसल एक पहनने योग्य उपकरण है, जो जागने के घंटो के दौरान गतिविधि की मात्रा और उसकी तीव्रता को ट्रैक करता है। आपको ये बात जानकर हैरानी होगी कि रिसर्च के दौरान 2149 यानि 5.9 फीसदी प्रतिभागियों की मौत हो गयी।

इस मामले में डॉक्टर्स का भी मानना है कि अगर कोई इंसान कई घंटे बैठे-बैठे काम करता है तो इसका बुरा असर हमारे शरीर पर पड़ता है।

इस मामले में डॉक्टर्स का भी मानना है कि अगर कोई इंसान कई घंटे बैठे-बैठे काम करता है तो इसका बुरा असर हमारे शरीर पर पड़ता है। इससे हमें कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है। कमर दर्द और पीठ दर्द जैसी समस्या उत्पन्न होने लगती हैं। वहीं लंबे समय तक कम्यूटर या टीवी के सामने बैठने से आंखों में दिक्तत आने लगती है और शरीर का मेटाबॉलिज्म रेट भी कम हो जाता है। जिस वजह से शरीर में ब्लड प्रेशर, डायबिटीज, अनियंत्रित कोलेस्ट्रॉल और हार्ट डिजीज का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही हार्ट अटैक की संभावना भी बढ़ जाती है। शरीर में कई समस्या उत्पन्न हो जाती है। जिससे इंसान धीरे-धीरे मौत की ओर बढ़ता चला जाता है। अगर आप इस ओर ध्यान नहीं देते तो ये घातक साबित हो सकता है।