एक साल का बैन झेला, संन्यास का मन भी बनाया, फिर वापसी कर ऐसा खेला और कर दिया ये कमाल……….

0
17

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की ओर से क्रिकेट खेल रहे हर एक खिलाड़ी यह चाहता है कि वह एक दिन एशेज में अपने देश का प्रतिनिधित्व करें।

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही प्रतिष्ठित एशेज सीरीज में खेलने का सपना हर खिलाड़ी का होता है। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की ओर से क्रिकेट खेल रहे हर एक खिलाड़ी यह चाहता है कि वह एक दिन एशेज में अपने देश का प्रतिनिधित्व करें। इसी सीरीज में एक खिलाड़ी एक साल का बैन झेलने के बाद वापसी करता है और अपने प्रदर्शन से इतिहास रच देता है। हम बात कर रहे है ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मीथ की। जी हां स्टीव स्मिथ वो खिलाड़ी जिसका नाम एक साल पहले हर किसी जुंबा पर सूनने को मिलता था। एक ऐसा खिलाड़ी जो अपने खेल से इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों से अपना नाम दर्ज करवा लेता था। एक ऐसा खिलाड़ी जिसके लिए रिकार्ड बनाना एक आम बात हो गई हो। लेकिन उसके क्रिकेट करियर में एक दौर ऐसा भी आता है जब उसे क्रिकेट से दूर किया जाता है। जब उसपर क्रिकेट में बॉल टेंपरिंग का आरोप लगता है और उसे एक साल का बैन झेलना पड़ता है।

एक साल का बैन झेला, संन्यास का मन भी बनाया,इस बीच वो कई बार संन्यास का मन भी बनाता है, लेकिन संन्यास नहीं लेता है। वो वापसी करता है और वापसी भी ऐसी जिसके चलते उसका नाम एक बार फिर जुंबा पर आ जाता है। जिसके चलते एक बार फिर उसका नाम रिकार्ड बुक में दर्ज होता है। जिसके चलते वह फिर से इतिहास के पन्नों में अपनी जगह बना लेता है। किसी भी खिलाड़ी के लिए बैन के बाद वापसी करना आसान नहीं होता। लेकिन स्टीव स्मिथ ने एक साल के बैन के बाद न केवल मैदान पर कदम रखा ब्लकि शानदार वापसी भी की।

वर्ल्ड कप हार के बाद अब भी छलक रहा विराट का दर्द, कही ये बातें

एक साल का बैन झेला, संन्यास का मन भी बनाया,

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच 1 अगस्त से एशेज सीरीज का आगाज हो चुका है। सीरीज के पहले टेस्ट मैच में स्टीव स्मिथ ने मैच की दोनों पारियों में शानदार शतक लगाकर एक बार फिर अपनी बल्लेबाजी का लोहा मनवाया। मैच की पहली पारी में स्मीथ ने जहां 144 रनों की पारी खेली। तो वहीं दूसरी पारी में भी उनके रनों की भूख कम नहीं हुई और उन्होंने शानदार 142 रन बनाकर ऑस्ट्रेलियन टीम की मैच में वापसी करवाई। इन दो शतकों के साथ ही स्टीव स्मिथ ने एक रिकार्ड भी अपने नाम किया। स्टीव स्मिथ ने सबसे कम पारियों में 25 टेस्ट शतक पूरे करने के मामले में भारतीय कप्तान विराट कोहली को पीछे छोड़ दिया। जिसके साथ ही वह सर डॉन ब्रैडमेन के बाद टेस्ट क्रिकेट में सबसे तेज 25 शतक लगाने वाले बल्लेबाज बन गए।

आपको बता दें कि स्मीथ ने 119 पारियों में अपने करियर का 25वां टेस्ट शतक लगाया। जबकि कोहली ने यह कारनामा 127 पारियों में करके दिखाया था। इसके अलावा सर डॉन ब्रैडमेन ने मात्र 68 पारियों में यह कीर्तिमान स्थापित किया था। इसके अलावा स्मिथ एशेज टेस्ट की दोनो पारियों में शतक लगाने वाले पांचवे बल्लेबाज बन गए हैं।

‘धारा 370 ’ को हटाने के बाद बोले गंभीर, कहा अब घाटी में लहराया तिरंगा