केजरीवाल सरकार का एक और बड़ा तोहफा, 24 रुपये किलो तक मिलेगी प्याज

प्याज की कीमतों ने आम आदमी को रोने के लिए मजबूर कर दिया है। प्याज ने गृहणियों का बजट बिगाड़ कर रख दिया है। प्याजा के दाम 70 से 80 रुपए प्रति किलोग्राम होकर आसमान छूने लग गए है। दिल्ली समेत देश के बड़े राज्यों में जैसे मुंबई, कोलकाता और चेन्नई में भी प्याज के दाम 70 के पास चला गया है। इस बीच दिल्ली सरकार ने लोगों को राहत पहुंचाने वाला ऐलान किया है।

टेंशन को जाओ भूल, केजरीवाल सरकार से ले जाओ 24 रुपये किलो में प्याज भरपूर

दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने लोगों को 24 रुपये किलो प्याज देने का फैसला किया है। 10 दिन के अंदर 24 रुपए किलो के दाम पर प्याज की बिक्री शुरू हो जाएगी। बीते 20 दिनों में प्याज के भाव 35 रुपये से बढ़कर 70 रुपए के पार निकल गया है। बाढ़ की वजह से ज्यादातर प्याज की नई फसलों को नुकसान पहुंचा। जिसके चलते प्याज की कीमत लगातार बढ़ती जा रही है। व्यापारी प्याज का स्टॉक जमा कर रहे है। जिसके चलते प्याज की कीमत में 30 फीसद तक इजाफा हुआ है।

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, दिल्ली के प्याज 57 रुपए प्रति किलो पर उपलब्ध है लेकिन खुदरा बाजार में दुकानदार 80 रुपए प्रति किलो के दर से प्याज बेच रहे है। वहीं दिल्ली एनसीआर में 60 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रही है। खुदरा बाजार में प्याज की मांग काफी है लेकिन आपूर्ति उतनी नहीं हो पा रही है। खुदरा बाजार के एक व्यापारी का दावा है कि दिल्ली में प्याज की खपत करीब 3 हजार टन रोजाना है लेकिन बाजार में सिर्फ एक हजार टन ही प्याज पहुंच पा रही है।

टेंशन को जाओ भूल, केजरीवाल सरकार से ले जाओ 24 रुपये किलो में प्याज भरपूर

गौर करने वाली बात ये है कि अगर प्याज के कीमतों में ऐसे ही इजाफा होता रहा तो दीपावली तक प्याज के थोक दाम 6500 से बढ़कर 8 हजार तक हो जाएगा। जिसके बाद लोगों को 90 से 100 किलो के दाम पर खरीदना होगा। नेशल हॉर्टिकल्चर बोर्ड ने देश में साल 2018-19 में 236.10 लाख टन प्याज की पैदावार का अनुमान लगाया था, लेकिन असलियत में साल 2017 से लेकर अब तक 232.62 लाख टन ही पैदावार हो पाई है।