केजरीवाल ने कहा है कि बिहार जैसे राज्यों से लोग 500 रुपये का टिकट लेकर दिल्ली आ जा रहे हैं और 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज करा रहे हैं।

एनआरसी पर छिड़ी बहस खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही। दिल्ली में एनआरसी लागू करने के मुद्दे पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और मनोज पहले ही आमने-सामने आ चुके हैं।

इस मुद्दे पर अरविंद केजरीवाल के बयान के बाद ‘दिल्ली बनाम बाहरी’ पर बहस शुरु चुकी है, लेकिन इस बीच अपने एक विवादित बयान को लेकर अरविंद केजरीवाल सबके निशाने पर आ गए हैं।

आख़िर अमित शाह ने आज एक कार्यक्रम में क्यों कहा, कश्मीर में नहीं चलेगी गोली। 

अपने ताजा बयान में केजरीवाल ने कहा है कि बिहार जैसे राज्यों से लोग 500 रुपये का टिकट लेकर दिल्ली आ जा रहे हैं और 5 लाख रुपये तक का मुफ्त इलाज करा रहे हैं। उनके इस बयान पर बीजेपी और जेडीयू ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। वहीं इससे पहले केजरीवाल ने कहा था कि अगर दिल्ली में एनआरसी लागू हुआ तो सबसे पहले दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी को शहर छोड़ना पड़ेगा।

वहीं अरविंद केजरीवाल के इस विवादित बयान के बाद एक बार दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने उनपर हमला बोला है। मनोज तिवारी ने पूछा कि बाहरी लोगों के आने से उनका कलेजा क्यों फट रहा है? तो वहीं बिहार सीएम नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड ने भी केजरीवाल के बयान की निंदा की है।

बता दें कि रविवार को एक कार्यक्रम में केजरीवाल दिल्ली की स्वास्थ्य व्यवस्था पर बात कर रहे थे। इस दौरान अरविंद केजरीवाल यह बयान दे गए और सबके निशाना पर आ गए।

दरसल कार्यक्रम में अरविंद केजरीवाल ने कहा “दिल्ली में बाहर से भी बहुत लोग आ रहे हैं इलाज करवाने के लिए, बिहार से एक आदमी 500 की टिकट लेता है, दिल्ली आता है और 5 लाख रुपये का ऑपरेशन फ्री में करवाता है। वैसे इससे खुशी होती है कि अपने ही देश के लोग हैं। सबका इलाज हो, सब खुश रहें। लेकिन दिल्ली की अपनी सीमाएं हैं इसलिए सारे देश की व्यवस्था सुधरनी चाहिए।”

रक्षामंत्री ने रक्षा प्रर्दशनी डेफ एक्सपो की वेबसाइट का किया शुभारंभ

Image result for ARVIND KEJRIWAL and manoj tiwari

तो वहीं इस बयान पर दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने पलटवार किया है।  तिवारी बोले, ‘एक बार फिर उन्होंने घृणा का भाव दिखाया है, अगर बिहार का व्यक्ति दिल्ली में इलाज करवा रहा है तो इससे अरविंद केजरीवाल का कलेजा क्यों फट रहा है? 5 लाख तक फ्री इलाज की व्यवस्था अरविंद केजरीवाल ने तो की नहीं, यह मोदीजी ने की है, जिसे हम आयुष्मान भारत बोलते हैं।

मनोज तिवारी तो यहां तक कह गए कि केजरीवाल और वह राजनीतिक शत्रु हैं, लेकिन अब केजरीवाल उनसे निजी दुश्मनी निकाल रहे हैं।

अरविंद केजरीवाल के इस बयान के बाद एक बात तो तय हो गई है कि एनआरसी से अलग अब यह दिल्ली बनाम बाहरी का बन गया है।