फैसले से पहले निर्भया की मां और दोषी की मां के बीच में कोर्ट रूम के अंदर ही बहस हो गई थी।

कई सालों के इंतजार के बाद आखिर निर्भया केस में फैसला आ ही गया है। निर्भया केस के चारों दोषियों को फांसी की सजा पर लग चुकी है। इस फैसले के बाद देश में खुशी का माहौल देखा गया है। देश के बड़े से बड़े नेता ने इस फैसले पर देश को बधाई दी हैं। बता दें कि फैसले से पहले निर्भया की मां और दोषी की मां के बीच में कोर्ट रूम के अंदर ही बहस हो गई थी। दोनों ही अपने अपने हक में फैसला चाहती थी।

निर्भया कांड के 7 साल, जानिए अब तक की पूरी कहानी

दिल्ली गैंगरेप निर्भया मामले में फैसला आते ही अरविंद केजरीवाल ने दिया बड़ा बयान

जानकारी के लिए बता दें कि साल 2012 के दिसंबर महीने में इस गैंगरेप घटना को अंजाम दिया गया था। इस गैंगरेप घटना को भारत की सबसे भयानक गैंगरेप घटना के रूप में जाना जाता है। इस घटना के बाद लोग सड़कों पर उतर आए थे और इंसाफ की मांग करने लगे थे। देश के हर हिस्से में धरना प्रदर्शन दिया गया था। जिसके बाद इस केस ने काफी तूल पकड़ लिया था। इतने सारे धरना प्रदर्शन को देखकर सरकार भी सकते में आ गई थी। 22 जनवरी को इन चारों दोषियों को फांसी पर लटका दिया जाएगा।

निर्भया गैंगरेप केस में आरोपी ने दायर की न्यायालय में याचिका

दिल्ली गैंगरेप निर्भया मामले में फैसला आते ही अरविंद केजरीवाल ने दिया बड़ा बयान

निर्भया केस में फैसला आते ही देश के बड़े से बड़े नेता ने बयान देना शुरू कर दिया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी एक बयान दिया है जिसमें उन्होंने कहा है कि निर्भया के रेप के दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट आने के बाद लोगों में संतोष देखा गया है। 7 साल लग गए इस फैसले के आने में, सिस्टम को बदलना ही होगा। ऐसी व्यवस्था लागू होनी चाहिए कि बलात्कारियों 6 महीने के अंदर ही फांसी हो जाए।

निर्भया कांड के दोषी सुप्रीम कोर्ट में दायर करेंगे याचिका, सजा कम करने का…