विश्व कप 2011 के फाइनल मैच में गौतम गंभीर ने शानदार रन बनाए जिसकी बदौलत भारत विश्व चैंपियन बन सका।

अपने समय में गौतम गंभीर भारतीय टीम के लिए एक बहुत बड़ा खिलाड़ी रहे। गौतम गंभीर ने भारतीय टीम को बहुत सारे मैचों में जीत दिलाई। विश्व कप 2011 के फाइनल मैच में गौतम गंभीर ने शानदार रन बनाए जिसकी बदौलत भारत विश्व चैंपियन बन सका। गौतम गंभीर का क्रिकेट करियर शानदार रहा और उन्हें एक बेहतरीन सलामी बल्लेबाज के तौर पर देखा गया। गौतम गंभीर और सहवाग की ओपनिंग जोड़ी बड़ी ही मशहूर हुआ करती थी उन्होंने मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के साथ भी बहुत सारे मैचों में ओपनिंग की।

नाराज होकर गौतम गंभीर ने अपने पद से अचानक दे दिया इस्तीफा...जानकारी के लिए बता दें कि क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद गौतम गंभीर राजनीति में आए और बीजेपी के टिकट से लोकसभा चुनाव लड़ा। और इस चुनाव में उन्होंने बड़ी जीत हासिल भी की। गौतम गंभीर भाजपा के सांसद होने के साथ-साथ दिल्ली जिला एवं राज्य क्रिकेट संघ डीडीसीए के निर्देशक भी हैं। लेकिन उन्होंने डीडीसीए के निर्देशक पद से अचानक इस्तीफा दे दिया। बताया जा रहा है कि गौतम गंभीर की सलाह को बार-बार दरकिनार किया जा रहा था जिसको देखते हुए उन्होंने अपने पद को छोड़ने का फैसला लिया।

नाराज होकर गौतम गंभीर ने अपने पद से अचानक दे दिया इस्तीफा...

एक रिपोर्ट में यह पता चला है कि गौतम गंभीर दिल्ली के खिलाड़ियों के लिए बहुत ज्यादा सोचते है और उनके लिए बहुत कुछ करना चाहते थे लेकिन डीडीसीए ने दिल्ली के खिलाड़ियों के लिए कुछ ऐसे फैसले लिए जो गौतम गंभीर को बिल्कुल भी समझ में नहीं आ रहे थे। वे चाहते थे कि खिलाड़ियों को खाना अच्छा मिले क्योंकि जब सहवाग और गंभीर साथ में यहां खेला करते थे उनके खाने में पत्थर और बहुत सारी गंदी चीजें मिला करती थी लेकिन जब उनके अनुसार कुछ भी होता नहीं दिख रहा था तो उन्होंने पद को छोड़ना ही बेहतर समझा।