मुसीबत में आए चिदंबरम तो एंकर रोहित सरदाना ने ली चुटकी, बोले समय-समय का फेर…

0
394
मुसीबत में आए चिदंबरम तो एंकर रोहित सरदाना ने ली चुटकी, बोले समय-समय का फेर...

तीन तलाक कानून और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने में अमित शाह का सबसे बड़ा हाथ माना जा रहा है और अब पी चिदंबरम मामले में भी अमित शाह का बड़ा हाथ बताया जा रहा है।

जब से लोकसभा चुनाव जीतकर मोदी सरकार दोबारा सत्ता में आई है और उन्होंने अमित शाह को गृहमंत्री बनाया है तब से ही अमित शाह गृहमंत्री के तौर पर पूरी तरह एक्शन में दिख रहे हैं। तीन तलाक कानून और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने में अमित शाह का सबसे बड़ा हाथ माना जा रहा है और अब पी चिदंबरम मामले में भी अमित शाह का बड़ा हाथ बताया जा रहा है।

मुसीबत में आए चिदंबरम तो एंकर रोहित सरदाना ने ली चुटकी, बोले समय-समय का फेर...

कांग्रेस के दिग्गज नेता पी चिदंबरम की मुश्किलें बढ़ती हुई दिखाई दे रही है। उन्हें आईएनएक्स मीडिया घोटालेबाज के रूप में देखा जा रहा है और उनकी गिरफ्तारी किसी भी समय हो सकती हैं। जानकारी के लिए आपको बताते हैं कि उनको हाई कोर्ट से कोई राहत नहीं मिल पाई और सुप्रीम कोर्ट से भी उनके हाथ निराशा ही लगी। वहीं दूसरी तरफ सीबीआई उन्हें गिरफ्तार करने उनके घर तक पहुंच गई लेकिन वह घर पर मिले नहीं। पत्रकार रोहित सरदाना ने चिदंबरम पर चुप्पी तोड़ते हुए हैं ट्विटर पर एक बयान दिया है।

जम्मू कश्मीर को लेकर कांग्रेस ने केंद्र सरकार को दी चेतावनी, कहा मोदी सरकार!

पी चिदंबरम ने आईएनएक्स मामले में अग्रिम जमानत के लिए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था, लेकिन जज ने उनकी याचिका ठुकरा दी और कह दिया के तथ्य ये इशारा कर रहे हैं कि वो ही इस केस में किंगपिन हैं। इस वजह से उनको हिरासत में लेना और पूछताछ जरूरी है। इसके बाद आनन-फानन में कांग्रेस नेता सुप्रीम कोर्ट पहुंचे तो कोर्ट ने तत्काल सुनवाई से साफ इनकार कर दिया। इसी के बाद सीबीआई उनको गिरफ्तार करने उनके घर पहुंची थी।

हाई कोर्ट से चिदंबरम की याचिका खारिज, सुप्रीम कोर्ट में भी नही बना काम

सीबीआई उनको गिरफ्तार करने दिल्ली स्थित आवास पर पहुंची लेकिन चिदंबरम अपना फोन स्विच ऑफ करके गायब मिले। इस पूरे घटनाक्रम पर पत्रकार और एंकर रोहित सरदाना ने चुप्पी तोड़ दी है। उन्होंने ट्विट किया है कि साल 2010 में चिदंबरम गृहमंत्री थे और सीबीआई ने सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस में अमित शाह को जेल में डाला था। अब साल 2019 में अमित शाह गृहमंत्री हैं और चिदंबरम को जेल में डालने के लिए सीबीआई उनके घर के दरवाजे पर खड़ी है। रोहित सरदाना ने लिखा ये समय का फेर है।