मौके पर पहुंचे तहसीलदार ने भैंसों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया

कोटा के इंदिरा विहार स्थित नाले में बिजली का तार टूट कर गिर जा ने से हुए दर्दनाक हादसे में 19 भैंसे अकाल मौत का शिकार हो गई। गनीमत रही कि इसमें किसी इंसान की जान नहीं गई। 19 भैंसों की मौत से भैंस मालिक परिवार सदमे में आ गया। सूचना पर महावीर नगर और जवाहर नगर थाना पुलिस मौके पर पहुंची साथ ही तहसीलदार कालूलाल जांगिड़ भी मौके पर पहुंचे और मृत भैंसों के शवों को उठवा कर पोस्टमार्टम के लिए पशु चिकित्सालय भिजवाया।

मोदी जी के सफाई अभियान की दिल्ली में सरे-आम उड़ रही हैं खिल्लियां… 

करंट से भैंसों की मौत की घटना से गुर्जर परिवार और गुर्जर समाज में खासा आक्रोश दिखाई दिया। वहीँ घटना से दुखी गुर्जर परिवार की महिलाये रोने लगी। सुरक्षा के लिहाज से मौके पर बड़ी संख्या में पुलिसकर्मी मौजूद रहे। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि काफ़ी देर तक बिजली के खंभे में स्पार्किंग होती रही। ऐसा लग रहा था जैसे कोई आग का गोला बन गया हो।  उसके बाद बिजली का तार टूट कर नाले में गिर गया जहाँ सांवरा गुर्जर और बंशीलाल गुर्जर ने भैंसे पाल रखी थी। उनमें से 19 भैंसो की करंट लगने के कारण मौत हो गई।

इस घटना में निजी बिजली कंपनी केवीडीएल की गंभीर लापरवाही उजागर हुई है। वहीं नालों पर अतिक्रमण कर पशुपालन करने का खामियाजा भी गुर्जर परिवार को झेलना पड़ा। मौके पर पहुंचे तहसीलदार कालूलाल जांगिड़ ने बताया कि सांवरा गुर्जर और बंशीलाल गुर्जर की 19 भैंसे करंट के कारण अकाल मौत का शिकार हो गई जिन्हें पोस्टमार्टम के लिए पशु चिकित्सालय भिजवाया जा रहा है, साथ ही प्रशासन के स्तर पर आगे की कार्यवाई की जाएगी।

समंदर हिलोरने क़ी एक रस्म को भाई-बहन ने प्रेम-पूर्वक निभाया, जानें पूरी रस्म…