Guru Nanak Jayanti 2021: हर्षों उल्लास के साथ मनाया जा रहा है प्रकाश पर्व

0
448

देश दुनिया में आज Guru Nanak Jayanti मनाई जा रही है। सिख समुदाय के प्रणेता Guru Nanak Dev का 552वां प्रकाश पर्व है। Guru Nanak Jayanti को सिख धर्म में गुरु पर्व या गुरु परब के नाम से मनाया जाता है। सिख धर्म में Guru Nanak Jayanti बहुत बड़ा त्यौहार माना जाता है। Guru Nanak जी सिख धर्म के संस्थापक और पहले सिख गुरु थे।

Guru Nanak Dev जी का जन्म 1469 में लाहौर के पास राय भोई की तलवंडी (अब ननकाना साहिब) में हुआ था। Guru Nanak Jayanti उत्सव पूर्णिमा दिवस से दो दिन पहले शुरू हो जाता है जिसमें अखंड पाठी, नगर कीर्तन जैसे अनुष्ठान शामिल हैं।

कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि पर सिख धर्म के प्रथम गुरु Guru Nanak Dev की Jayanti मनाई जा रही है। प्रकाश पर्व पर सभी गुरुद्वारों में भजन और कीर्तन का आयोजन किया जा रहा है। ये सिख धर्म के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है। आज के दिन सुबह प्रभात फेरियां निकाली जाती हैं और गुरुद्वारों में सबद कीर्तन का आयोजन किया जा रहा है। सभी घरों और गुरुद्वारों को रोशनी से सजाया गया है। वहीं अलग-अलग शहर में लंगरों का आयोजन किया जा रहा है।

पंजाब समेत पूरे विश्व में प्रथम पातशाही का गुरु पर्व श्रद्धा और उल्लास से मनाया जा रहा है। वहीं इस बार करतारपुर कॉरिडोर के दोबारा खुलने से सिख संगत की खुशी दोगुनी हो गई है। ननकाना साहिब में जन्मे श्री Guru Nanak Dev जी ने पंजाब के सुल्तानपुर लोधी में मूल मंत्र का उच्चारण कर गुरु ग्रंथ साहिब की बुनियाद डाली थी। यहां पर वे लगभग 14 साल भक्ति में लीन रहे। यहीं से उन्होंने अपनी यात्रा का आगाज़ किया था।

यह भी पढ़ें – Farmer Laws Repealed : बांटी जा रही जलेबी, Kisano के बीच जश्न का माहौल

ABSTARNEWS के ऐप को डाउनलोड कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते है