उत्तर प्रदेश में फिरोजाबाद के एक गांव के लोग आज भी प्रदूषित पानी पीने को मजबूर है. फिरोजाबाद के राजा का ताल इलाके के पास जोनपाई गांव में लोगों को हरे रंग का पानी पीना पड़ रहा है. इतना ही नहीं गांव वालों का कहना है कि प्रदूषित पानी पीने से लोगों में कई तरह की बीमारियां भी फैल रही है. और पिछले 6 महीने पहले एक बच्ची की प्रदूषित पानी पीने से मौत भी हो गई थी.

फिरोजाबाद के जोनपाई गांव में बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक हर किसी को हरे रंग के पानी को पीने के लिए मजबूर होना पड़ा रहा हैं, क्योंकि जिस घर में भी समरसेबल चलाया जाता है उसमें से हरे कलर का पानी ही निकलता है. इससे ही लोग बर्तनों में भरकर अपने घर ले जाते हैं. हालाकि जो लोग परिवार से सक्षम है वह पानी को खरीदकर  पी रहे हैं, मिली जानकारी के अनुसार यह इलाका नगर निगम की सीमा में नहीं है इसलिए यहां के बाशिंदे जमीन के नीचे समरसेबल लगाकर पानी का दोहन करते हैं

CM Yogi का ऐलान, मृतक के आश्रितों को 2 नहीं बल्कि मिलेंगे इतने लाख

ऐसा माना जा रहा है कि जमीन के नीचे भी प्रदूषित पानी हो गया है. क्योंकि आसपास के कारखानों से केमिकल का पानी निकल कर जमीन में समा जाता है और वह समरसेबल के माध्यम से उनके घरों में पहुंच जाता है. जब हमने इस बारे में गांववालों से बात की तो उनका कहना था कि 1 साल से ज्यादा का वक्त हो गया लेकिन इस तरह का पानी रुक नहीं रहा है. क्योंकि यहां आसपास कई कांच की फैक्ट्रियां हैं जिसकी वजह से केमिकल से मिला पानी आ रहा है. फिलहाल ग्रामीणों की शिकायत पर जल निगम के एक्सईएन ने पानी का सैंपल लेकर जांच के लिए लखनऊ भेज दिया है, लेकिन अभी तक इस दूषित पानी की परीक्षण रिपोर्ट ही नही आई है|

AB STAR NEWS  के  ऐप को डाउनलोड  कर सकते हैं. हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम  और यूट्यूब पर फ़ॉलो कर सकते हैं